Incest SAFAR - MERI BEHNO KI TRISHNA

  • You need a minimum of 50 Posts to be able to send private messages to other users.
  • Register or Login to get rid of annoying pop-ads.

NikkuatXF

New Member
Messages
98
Reaction score
223
Points
33
लेखक स्नेहा की शर्त और मेहक की कसम के बीच उलझ गया है.. कहानी में सस्पेंस डालने और लंबा खीचने के चक्कर में अपने मूल प्लाट से भटक गया है...

अब कहानी को पूरा करने का एक ही रास्ता है कि सुहागरात को मेहक और स्नेहा का थ्रीसम कराया जाये और विनी के सिवाय किसी और के सामने मेहक की चुदाई का राज़ ना लाया जाये...

उसके बाद स्नेहा चाहे तो बहनो की चुदाई बंद करा दी जाये, या सभी बहनो के साथ थ्रीसम हो, या हीरो ये शर्त रखे कि जब भी किसी बहन को चुदाई की जरूरत हो तो स्नेहा से इजाजत ले...या उसके सामने चुदाई कराये...

वैसे अभी तक कहानी अच्छी तरह चल रही थी....

विनती है कहानी को पूर्ण जरूर करे...
 
Last edited:

Mking

Active Member
Messages
716
Reaction score
934
Points
93
Ek story bahut hi achha laga tha dil ko chu jane wala Pyaar100 baar,bus humlogo chor gaya,ye story bhi dil se sahne laga tha Sayed ye bhi...
Ab to dar lagne laga hei,ki kisi story ko dil lagao ki nehi.
 
Top

Dear User!

We found that you are blocking the display of ads on our site.

Please add it to the exception list or disable AdBlock.

Our materials are provided for FREE and the only revenue is advertising.

Thank you for understanding!