• If you are trying to reset your account password then don't forget to check spam folder in your mailbox. Also Mark it as "not spam" or you won't be able to click on the link.

Incest PAAP PUNYA (INCEST + ADULTERY) Completed

kiske sath chudai me sabse jyada maja aata hai


  • Total voters
    361

Lodon Ka Raja

Leaving for Few Months BYE BYE TAKE CARE
6,180
47,747
219
दोस्तों, ये कहानी मैंने काफी समय पहले कही पढ़ी थी और मुझे बहुत पसंद आई थी. कहानी का लेखक कोई और है मैं सिर्फ इसे हिंदी में देने की कोशिश कर रहा हूँ.
or sath hi sath isme kuch add bhi kar raha hu apni taraf se


UPDATE - 1

baat tab ki hai jab main school me padhta tha
ham ek chote se sahar me rahte the

or hamara ek chota sa pariwar tha,,,
kul mila kar hamare ghar me 4 log the,,,,
meri mammi....

zzzas-12.md.png

papa 55 saal,

meri bahan rashmi
IMG_20200214_081926.md.jpg

sabse chota main monu....
images

meri bahan rashmi bahut hi khubsurat hai,,,
didi ki height 5 '7" , slim or dudhiya rang
or jo mujhe jyada pasand hai unke reshmi kale rang ke baal,,,
jo unke kamar ke niche tak aate hai
kul milakar meri rashmi didi ek film actress se kam nahi lagti thi,,
didi b.com kar rahi thi or unki math bahut hi achi thi,,,
wo mujhe math padhati thi ,,, 10th ke baad mera school change
ho gaya tha,,,

or is school me mere jyada dost nahi hai ,,
bas 2 -3 gine chune dost hai,,,
unhi me se ek dost hai rishu,,,,
jab main school me naya naya aaya tha ,,
tab kuch ladkon ne meri ragging karne ki koshish ki thi,,,
tab rishu ne mujhe bacha liya tha,,,
tab wo 12 th me tha or 2 saal se fail ho raha tha,,,
or ab wo 3sri baar fail ho kar mera clas fallow ho gaya tha,,,


darsal rishu ki maa or meri mammi purane dost hai,,,

main kamini aunty rishu ki mammi ko to ache se kjanta hu,,,
kyonki wo aksar hamare ghar aati hai or
mammi or didi ke sath ghanton baatein karti rahti hai,,,
par rishu kabhi mere ghar nahi aaya tha or usne mujhe
kisi function me me meri mummy ke sath dekha tha,,,,
wo mujhe janta tha to usne mujhe ragging se bacha liya tha,,,
kyoki wo kai salon se school me tha
or wo gundagardi jyada karta tha,,, padhai kam,,
isiliye sabhi usse darte the,,,,
tabhi se maine usse dosti kar li,,
taki mujhe school me koi bhi pareshan na karee,,,,



mera school sarkari tha jisme sirf ladke padhte the,,
ek din lunch time me rishu mere paas aya or bola
are akele akele kya kha raha hai ,,,
main bola bhai aap bhi kha lo or hasne laga,,,
or bola jaldi se kha le tujhe ek chiz dikhani hai,,
maine jaldi se khana khaya or bola ki kya chiz dikhani hai,,
rishu mujhe class ke piche le gaya or mujhe apni tshirt me se
ek kitab nikal kar ke mujhe dikhai ,,,
or usme nangi ladkiyon ki photo bani huyi thi,,,,
607
6216
20456

rishu ka chehra chamak raha tha or pahli baar aise photo dekh
kar mera chehra sharam se laal ho gaya tha ,,,,
mera chehra dekh kar rishu bola abe chutiye teri gaand kyo
fat rahi hai ,,,
maine kaha bhai koi dekh lega or kisi ne pakad liya to bahut pitai hogi,
rishu bola ,, abe sale fattu itni muskil se to ye kitab ka jugad
kiya hai maine ,,,
pata hai delhi se mangvayi hai ,, yaha milti nahi hai ,,,
or kitab ke panne palatne laga,,
or dusre panne par kai sari chudai ki tasweeren thi ,,, or ladko
or ladkiyon ki ek sath thi ,,,

3702
3356


zindgi me ye sab main pahli baaar dekh raha tha or dar
bhi raha tha or dekhne ki icha bhi ho rahi thi ,,,,
or tabhi bell baji or ham dono vapis bhi aa gaye ,,,

or master bhi claas me aa gaye the par mera man abhi bhi un
tasweeron ko dekhne ka ho raha tha,,,


us din jab main ghar gaya to ghar par sirf mummy hi thi,,
papa sham ko 7 baje tak office se aa jate hai,,,
or didi 4 baje college se aati thi ,,
khair main khana khakar apne kamre me aaram karne chala gaya,,
mai aapko bata du ki mera or didi ka kamra ek hi hai ,,,
bas bad alag alag hai ,,, march ka mahina tha,,,
jyada garmi nahi thi to mujhe jaldi hi nind aa gayi ,,,
mujhe sapne me hi wo nayi ladkiyan nazar aane lagi,,,
or sath hi sath unke boobs bhi nazar aane lage,,,
tabhi kisi ne shor kiya or meri ankhen khul gayi ,,,


samne bad par didi ki kitaben padi thi yani ki college se lot ayi thi ,,
sapno ki wajah se mere pant me tant ban gaya tha ,,,
wo to main ulta so raha tha warna didi ko bhi dikh jata ,,
main apna lund pant me adjust kar hi raha tha ki rashmi didi room
me aa gayi ,, unhone pink color ka kurta or black churidar suit
pahan rakha tha,,,

or mr. jaag gaye kitna sote ho , didi ne apna dupatta study table par rakhte huye kaha,,,
abhi main thodi khumari me tha ,, dupatta hatne se rashmi ke boobs ubhar kar aa rahe the,,,,

images

or meri najar unse chipak gayi ,, pahle bhi main didi ko kai baar
bina dupatte ke dekh chuka hu par pata nahi kyo us din dupatta hatte

hi mujhe wo nangi tasweeron ki yaad aa gayi or un ladkiyon ke boobs
ki tulna didi ke boobs se karne laga,,
tabhi didi apne bad par baith gayi or apne jude ko khool diya or
unke baal unkekandhe par lahra gaye or mere lund ne ek jhatka diya

kya hua aise kya dekh raha hai , didi ne mujhse kaha
mujhe aisa laga ki meri chori pakdi gayi hi ,,
ghabra kar main bola ,, - wo wo kuch nahi aapke baal ,,,
mera gala sukh raha tha,,
tabhi didi haste huye mere bagal me aakar baith gayi ,,,,

mujhe unke badan se deo ki bhini bhini khusboo aa rahi thi
or sath hi sath dar bhi lag raha tha ki kahi didi mere pajame ki taraf na
dekh le par didi ne mere gaal par ek pyaar bhari chapat lagayi ,,,
or bahar jane lagi,,, or unke lambe baal unke kandhon par nbadi hi badi
sexy tarike se lahra kar mujhe chida rahe the,,

agle din rishu mujhe class me chedte huye bola ,, abe wo sexy kitab
kaisi lagi tujhe mujhe maja aaya tha ,, ham class me pichle desk par
baithe huye the ,,,,,
fkitni baar muth maara tune bol bol,, bhai se kya sharam
maine aisa kuch nahi kiya maine chidte huye bola,,

abe chutiye sirf photo dekh ke tera ye haal hai
agar tujhe film dikha di to tera kya haal hoga,,,
bol dekhega nangi ladkiyan or unki film

ye sunkar mere lund me harkat hone lagi ,, or na chahte huye bhi
mere muh se nikal gaya ,, kaha dekhenge,,
wo mujh par chod de bas chutti ke baad mere sath chalna,,,

chutti ke baad wo mujhe school ke paas wale ciber cafe me le gaya

cafe wala rishu kopahchanta tha,,
usne hame ek kone ka cabin de diya ,,,
rishu computer operate kar raha tha ,,,
dekh kar lag raha tha ki wo kafi expert hai ,,,
tabi usne ek site open karke ek link click kiya ,,,

kuch seconds ke baad ek clip chalne lagi,,,

jisme ek aadmi ek ladki ke upar chadha hua tha or ladki jhuki hui thi ,,
yani ki doggy style me ,,
or wo jor jor se dhakke laga raha tha ,,,

]
adria-rae-her-first-interracial-scene-blacked_006.gif

ye dekh kar mera lund ek dam tan kar khada ho gaya tha,,,

isko chudai kahte hai mere laal ,,, dekh kaise chod raha hai,,,,
ladki ki choot ko ,, rishu bola,,,

main kuch nahi bol raha tha bas computer screen par dekh raha tha,,


gala sukh raha tha or dil joro joro se dhadak raha tha ,,,
or dar bhi lag raha tha ki koi hame pakad na le,,,
achank meri najar niche gayi or maine dekha ki rishu ki pant me bana tant meri pant me bane tant se kafi bada tha,,,


maine fir se computer ki taraf dekha or
ek dusri clip chal rahi thi ,,,
jisme do kale admi ek gori ladki ko badi berahmi se chod rahe the,,,

36576

ye dekh kar mera lund akad gaya,,,,
clip choti thi par mere andar kai nayi nayi tarah ki
umange jaag gayi thi
ham ek ghante ke baad apne apne ghar chale gaye....


other story

 
Last edited:

Lodon Ka Raja

Leaving for Few Months BYE BYE TAKE CARE
6,180
47,747
219
UPDATE - 2


आह फ़क मी हह आह लड़की चिल्ला रही थी.
ये वोही लड़की थी जिसे मैंने दोपहर को फिल्म में देखा था
बस अंतर इतना था की काले आदमी की जगह अब उसे मैं चोद रहा था.
0067.gif

फ़क मी आह यस आह मेरी ऑंखें बंद थी
तभी मुझे कुछ गीला गीला लगा
मेरी ऑंखें खुल चुकी थी
और मेरा सपना टूट गया था
पर मेरे लंड ने सपना देखते देखते ही पानी छोड़ दिया था.
सामने घडी में रात के दो बज रहे थे.
नाईट बल्ब की लाल रौशनी कमरे में फैली हुई थी
और सामने के बेड पर रश्मि दीदी सो रही थी.
दीदी सीधे लेती हुई थी.
उनकी चून्चिया बिलकुल सीधे तनी हुई थी
और उनकी सांसो के साथ जुगलबंदी कर रही थी.
मेरे तो रोंगटे खड़े हो गए और मेरी नज़रे उन उभारो पर जम गयी
और मेरे पैजामे में फिर से वोही हलचल होने लगी.
मुझे समझ नहीं आ रहा था की अपनी बेहेन को देख कर क्यों मुझे ऐसा हो रहा है.
मैं गिल्ट फील करने लगा
और उठकर बाथरूम चला गया और लौट कर नाईट बल्ब बंद करके सो गया.

अगली सुबह मेरी आँख ८ बजे खुली
तो मैंने देखा की दीदी का बैग टेबल पर रखा है
मतलब दीदी कॉलेज नहीं गयी थी.
मैं फ्रेश हुआ और नीचे ड्राइंग रूम में चला गया.
रश्मि दीदी सोफे पर बैठ कर टीवी पर न्यूज़ देख रही थीं.
मुझे फिर रात की बात याद आ गयी
और फिर से मुझे गिल्ट फील होने लगा.
अरे तू जाग गया. आ बैठ. दीदी मुस्कुराते हुए बोली.

आप कॉलेज नहीं गयी दीदी मैंने पुछा.

लो कर लो बात. कहा दिमाग रहता है तेरा.
अरे सन्डे को कॉलेज कब से खुलने लगा भाई.

अरे हाँ आज तो सन्डे है. मम्मी और पापा कहा है. मैंने पुछा
और मन में सोचा की रिशू के साथ रहते हुए मै भी कैसा होता जा रहा हूँ.

वो तो बुआ के यहाँ गए है शाम तक आएंगे. दीदी टीवी देखते हुए बोली.
मम्मी नाश्ता और खाना बना कर गयी है.
चाहिए तो मांगना मैं दे दूँगी. मैंने भी अभी नाश्ता नहीं किया है.

मैंने कहा दे दो और दीदी किचेन में चली गयी
और मैं रिमोट लेकर चैनल बदलने लगा पर रिमोट के सेल वीक हो गए थे
और कई बार बटन दबाने से के बाद बड़ी मुश्किल से एक चैनल लगा
जसमे जानवरों के बारे में बता रहे थे तो मैं वही देखने लगा.
थोड़ी देर में दीदी नाश्ता ले आई और हम दोनों नाश्ता करने लगे.

तू बड़ा होकर जरूर जानवरों का डॉक्टर बनेगा दीदी हँसते हुए बोली.

क्यों दीदी. मैं बोला

सारा दिन टीवी पर जानवरों को जो देखता रहता है.
दीदी अपने रेशमी बालो को खोलकर अपने सीने पर डालते हुए बोली.
मेरा तो बुरा हाल हो गया. एक तो दीदी इतनी खूबसूरत
और उस पर जब वो अपने बाल खोल लेती हैं
तो बॉलीवुड क्या हॉलीवुड भी फ़ैल हो जाता है.

ला अपना लेफ्ट हैण्ड दे मैं तेरा फ्यूचर बताती हूँ.
कहते हुए दीदी ने मेरा हाथ अपने हाथ में ले लिया.
क्या मुलायम हाथ था उनके हाथो में मेरा हाथ एकदम काला नज़र आ रहा था.
हां तो तू बड़ा होकर एक बहुत बड़ा हां जोकर बनेगा.
दीदी मेरा मजाक बना कर हंस रही थी पर मैं उनकी ख़ूबसूरती को निहार रहा था.

थोडा हंसी मजाक के बाद हम फिर से टीवी देखने लगे.
फिर कुछ ऐसा हुआ की मेरी ही नहीं दीदी की भी हंसी रुक गयी.
दरअसल टीवी पर कुछ जेब्रा दिखाए जा रहे थे
की अचानक एक मेल जेब्रा फीमेल जेब्रा को पीछे से सूंघने लगा और चाटने लगा.
चैनल के कैमरामैन का पूरा फोकस अब वही पर था.
फिर कैमरे का फोकस जेब्रा की टैंगो की तरफ हुआ
और अब उसका लंड पूरा लाल हो कर विशालकाय रूप ले चूका था.
उसका लंड देख कर ही हम दोनों की हंसी रुक गयी थी
और आवाज़ बंद हो गयी थी.
मैंने दीदी की तरफ देखा वो बिना पलकें झपकाए एकटक टीवी देख रही थी.
उनके सीने के उभर कुछ और तन गए थे.
उनकी सांस भी कुछ तेज चल रही थी.
अचानक उन्होंने मुझे देखा और उनका चेहरा शर्म से लाल हो गया
और उन्होंने बिना कुछ बोले रिमोट उठाया
और चैनल चेंज करने की कोशिश करने लगी पर बैटरी वीक होने की वजह से चैनल नहीं बदला
और वो जेब्रा फीमेल जेब्रा पर चढ़ गया.
मेरा हाथ अभी भी दीदी के हाथ में था जो उनकी जांघ पर रखा था.
उनकी कोमल त्वचा का एहसास मुझे उनके पैजामे के ऊपर से भी हो रहा था.
तभी जेब्रा ने एक ही झटके में अपना विशाल लंड फीमेल जेब्रा की चूत में घुसा दिया
और दीदी ने उस पहले झटके के साथ ही मेरा हाथ कास के भींच लिया
tenor.gif

. मेरी हालत बहुत बुरी हो गयी थी ऐसा लग रहा था
की मैं दीदी के साथ बैठ कर ब्लू फिल्म देख रहा हूँ.
मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया था और उधर जेब्रा लगातार झटके मार रहा था.

मुझ पर सेक्स का नशा चढ़ता जा रहा था
और अब दीदी भी चैनल बदलने की कोशिश नहीं कर रही थी.
कुछ तो उन जानवरों का सेक्स देख कर
और कुछ दीदी की नरम जांघ की गर्मी मुझसे रहा नहीं गया
और मैंने अपने हाथों को थोडा खोला और दीदी की राईट जांघ,
जिस पर मेरा हाथ था, को कस कर दबा दिया...
बस मेरे लिए इतना ही काफी था और मेरे लंड ने पानी छोड दिया.
तभी फ़ोन की रिंग बजी और दीदी जैसे नींद से जागी
और फ़ोन उठाने के लिए चली गयी और मैं बाथरूम की तरफ.


MY OWN STORY
ZINDGI KE HASEEN LAMHE - EK LONG STORY



 
Top