Adultery सपना या हकीकत [ INCEST + ADULT ]

  • You need a minimum of 50 Posts to be able to send private messages to other users.
  • Register or Login to get rid of annoying pop-ads.

DREAMBOY40

शुध्द और सामाजिक विचारधारा का प्रतिक हू मै 😎
Prime
Messages
4,694
Reaction score
13,717
Points
143
नमस्कार दोंस्तो ,

मेरा नाम ना जानिए मेरी कहानी मेरा असली चरित्र चित्रण करेगी।
ये मेरी पहली कहानी है तो भूल चूक माफ कीजिएगा ।

इस कहानी मैने मेरे व्यक्तिगत जीवन के कुछ fantesy को सजीव रूप दिया है और आपका प्यार और साथ रहा तो ये एक लम्बी कहानी होगी ।

इसमे मुख्य रूप से पारिवारिक किरदार है तो जिन बंधु को Incest स्टोरी मे रुचि नहीं है वो ना पढे ।


आशा करता हूँ कि आपका प्यार और समर्थन जरुर मिलेगा ।

कल एक जोरदार अपडेट के लिए तैयार रहे और पेज को बुकमार्क कर ले क्योकि मुझे पुरा विश्वास है आपको मेरी रचना निराश नही करेगी ।


धन्यवाद



INDEX







Update 01Update 02update 03update 04update 05
update 06update 07update 08update 09update 10
update 11update 12update 13update 14update 15
update 16update 17update 18update 19update 20
update 21update 22update 23update 24update 25
update 26update 27update 28update 29update 30
update 31update 32update 33update 34update 35
Update 36Update 37Update 38Update 39Update 40
update 41update 42update 43update 44update 45
update 46update 47update 48update 49update 50
update 51update 52update 53update 54update 55
update 56update 57update 58update 59update 60
update 61update 62update 63update 64update 65
update 66update 67update 68update 69update 70
Update 71update 72update 73update 74update 75
update 76update 77update 78update 79update 80
update 81update 82update 83update 84update 85
update 86update 87update 88update 89update 90
update 91update 92update 93update 94update 95
update 96update 97update 98update 99update 100
Update 101update 102update 103update 104update 105 [चोदमपूर स्पेशल ]
update 106 [ चोदमपूर स्पेशल ]update 107 [चोदमपूर स्पेशल]update 108 [ चोदमपूर स्पेशल]update 109 [चोदमपूर स्पैशल]update 110 [ चोदमपूर स्पैशल]
update 111 [ चोदमपूर स्पेशल]update 112 [ चोदमपूर स्पेशल ]update 113 [ चोदमपूर स्पैशल]update 114 [ चोदमपूर स्पैशल ]update 115 [चोदमपूर स्पैशल ]
update 116 [ चोदमपूर स्पैशल ]update 117 [ चोदमपूर स्पैशल ]update 118 [ चोदमपूर स्पैशल ]update 119 [चोदमपूर स्पैशल]update 120 [ चोदमपूर स्पैशल ]
update 121 [ चोदमपूर स्पैशल ]update 122 [ चोदमपूर स्पैशल ]update 123 [ चोदमपूर स्पैशल ]update 124 [ चोदमपूर स्पैशल ]update 125 [ चोदमपूर स्पैशल ]
update 126 [ चोदमपूर स्पैशल ]update 127update 128update 129update 130
update 131update 132update 133update 134update 135
Update 136Update 137Update 138Update 139Update 140
update 141update 142update 143update 144update 145
update 146update 147update 148update 149update 150
update 151update 152update 153update 154update 155
update 156update 157update 158update 159update 160
update 161update 162update 163update 164update 165
update 166update 167update 168update 169update 170
Update 171update 172update 173update 174update 175
update 176update 177update 178update 179update 180
update 181update 182update 183update 184update 185
update 186update 187update 188update 189update 190
update 191update 192update 193update 194update 195
update 196update 197update 198update 199update 200



 
Last edited:

DREAMBOY40

शुध्द और सामाजिक विचारधारा का प्रतिक हू मै 😎
Prime
Messages
4,694
Reaction score
13,717
Points
143
UPDATE 001


ये कहानी उत्तरी भारत के एक नये बने कस्बे की है जिसका नाम चमनपुरा है । यहा मुख्य रूप से बाज़ार पुराने है और कुछ बैंक , स्कूल कालेज है बाकी किसी सरकारी कार्य और अन्य जरुरी शिक्षाओ , मेडिकल सेवाओ के लिए शहर जाना पड़ता है ।धीरे धीरे अब कुछ सुविधाएँ उपलब्ध होने लगी है और बाज़ार भी होने लगा है


मेरा नाम राज है और मेरे पिता जी रंगीलाल एक बर्तनों के व्यापारी है । ये कोई पुस्तैनी व्यापार नही है ये मेरे पिता जी द्वारा ही मेरे जन्म से कुछ साल पहले ही सुरु हुआ था और अच्छा खासा दर्जा है आज बाज़ार मे उनका ।

आईये अब थोड़ा अपने परिवार का परिचय करा देता हू ।

मै - राज , उम्र अभी 21 साल है , बॉडी से नॉर्मल हू अच्छी हाईट है और 7" लंड है और घर पर एक कास्मेटिक की दुकान अपनी मा के साथ चलता हू । ( इस दुकान का विस्तार आगे मिलेगा )

पिता - रंगीलाल , उम्र 49 साल , स्वभाव से गंभीर है लेकिन बहुत मजाकिया भी है और मैने इनका लंड ध्यान देखा नही तो क्या उसका वर्णन " हा हा हा हा " खैर आगे जरुर पता चलेगा
मेरे पिता 2 भाई और 2 बहन है उनका परिचय समय आने पर दिया जायेगा ताकि आपको किरदारो को याद रखने मे ना समस्या हो ।

मा - रागिनी देवी , उम्र 45 साल , बहुत ही आकर्षक और कामुक महिला और स्वभाव से थोडी चंचल भी है और मै भी मुख्य रूप से अपने मा के स्वभाव से जुडा हू , उनका शरीर हल्का शाव्ला है और भरा हुआ है साइज़ में देखे तो 38 35 42 , थोडी सी मोटी है लेकिन इस उम्र में भी इनका ये रूप जवान लड़कियो के हुस्न को भी मात दे दे

मेरी बड़ी बहन - सोनल , उम्र 23 , अभी सादी हो चुकी है और एक बच्चा भी है । मुहल्ले में ही लव मैरिज हुआ है इसका भी विस्तार आगे मिलेगा कि क्यो मेरी दीदी ने बगल के मोहल्ले में ही सादी की
ये भी मा की तरह गदरयी बदन वाली है लेकिन हाईट पिता जी की तरह कम है ।
इसका साइज़ इस समय 36 34 38 है ।


मेरा छोटा भाई जो इस समय 18 का हो चूका है उसका नाम अनुज है और उसका कोई खास किरदार अभी कुछ अपडेट तक नही है ।


दोस्तों ये था परिचय
और एक बात बता दू इस कहानी मे कोई मैजिक या अप्राकृतिक घटना या विज्ञान विरोधी चीजे नही होने वाली है
मेरा मानना है की कहानी को दैनिक जीवन में नेचूरल तरीके से चलाना ही अच्छा है ।

क्योकि मैने एक जगह पढा था साधरणता से लम्बा सफ़र तय कर सकते है ।


तो चलिये इस कहानी को शुरू करते है
दोस्तो आज मेरी उम्र 21 साल है लेकिन इस कहानी को समझने के लिए आपको मेरे पास्ट को जानना होगा । जब मैने पहली बार सेक्स को बड़े करीब से मह्सूस किया था ।



बात उस समय की है जब मै सातवी कक्षा में था । उस समय मेरा चमनपुरा ग्राम सभा हुआ करता था लेकिन पुराना बाज़ार होने से आस पास गाव के लोगो की रौनाक लगी रह्ती थी । और मेरे पिता जी का दुकान घर पर ही था तब और हमारे मुहल्ले मे कच्ची सड़क ही थी और कुछ किराने की और कुछ कपड़े की और एक दर्जी की दुकान थी ।

उस समय मै गाव के ही स्कूल मे पढने जाता था और दोपहर मे लंच के घर आ जाता था फिर वापस स्कूल ।
मेरे साथ मेरी बड़ी बहन भी उसी स्कूल मे जाती थी और मेरे कक्षा मे ही पढ़ती थी लेकिन वो लंच के लिए घर नही आती थी आपने सहलियो के साथ ही खा लिया करती थी । मेरा भी एक मित्र था अमन ( इसकी चर्चा आगे मिलेगी ) और स्कूल से छुट्टी होने पर घर और फिर घुमने निकल जाता था मुहल्ले मे अपने दोस्तो के साथ जिसमे मेरा एक मनपसंद साथी था चंदू वो मेरा दूर के रिस्ते से भंजा लगता था और उसकी मा , मेरी दीदी लगती थी । मै अक्सर उसके घर जाया करता था ।

उसके पिता रामवीर थे उसकी मा रजनी एक कामुक महिला थी जिसकी चुचिया इतनी बड़ी थी लगता था कितना दूध भरा हो इनमे । रजनी का उम्र मेरे मा जितनी थी (जैसा कि मैने बताया ये दूर की रिस्ते मे दीदी लगती है ) उसका साइज़ 40 34 36 का था जो भी देखता तो चेहरे से पहले नजर चुचो पर ही जाती थी ।

चंदू की एक बड़ी बहन भी थी चम्पा, जो उससे 1 साल बड़ी थी वो थोडी नॉर्मल सी थी लेकिन उसकी गांड बाहर की ओर निकले थे और सुट सलवार या घाघरा मे उसकी गाड़ और बाहर आ जाती थी । मेरा चंपा से कुछ खास लगाव नही था मै अक्सर उससे शर्मा कर ही बात किया करता था ।


एक दिन मेरे स्कूल से जल्दी छुट्टी हो गयी

और आदत अनुसार घर आते ही मै चंदू से मिलने उसके घर गया मुझे लगा कि मेरी तरह उसके स्कूल की भी छुट्टी हो गयी है पर मै गलत था

मै उसके घर गया तो बरामदे मे कोई नहीं था मै चंदू करके पुकारता उससे पहले ही मुझे किसी के झगड़ा करने की आवाज सुनाई देने लगती है और मै धीरे धीरे गलियारे से कमरे की तरफ जाता हू


अन्दर देखने से पहले ही झगड़ा शांत हो जाता है और मुझे चंदू के मा की आवाज आती है




आगे के अपडेट मे हम जानेगे की कमरे मे अखिर ऐसा क्या हो रहा था जिससे मेरे समाज को देखने का नजरिया बदल गया ।


कहानी का पहला अपडेट दे दिया गया है आपके प्रतिउत्तर की प्रतीक्षा रहेगी ।
धन्यवाद
 
Last edited:

DREAMBOY40

शुध्द और सामाजिक विचारधारा का प्रतिक हू मै 😎
Prime
Messages
4,694
Reaction score
13,717
Points
143

DREAMBOY40

शुध्द और सामाजिक विचारधारा का प्रतिक हू मै 😎
Prime
Messages
4,694
Reaction score
13,717
Points
143

DREAMBOY40

शुध्द और सामाजिक विचारधारा का प्रतिक हू मै 😎
Prime
Messages
4,694
Reaction score
13,717
Points
143
Tags
adultery baap beti incest bhai bahan dreamboy40 family sex incest ma beta maa beta bua chachi didi aunty wife
Top

Dear User!

We found that you are blocking the display of ads on our site.

Please add it to the exception list or disable AdBlock.

Our materials are provided for FREE and the only revenue is advertising.

Thank you for understanding!