Incest में और मेरी कामवासना

  • You need a minimum of 50 Posts to be able to send private messages to other users.
  • Register or Login to get rid of annoying pop-ads.

कहानी आगे कंटिन्यू करू कि नहीं।

  • नहीं बेकार है कहानी

    Votes: 0 0.0%
  • Not shure

    Votes: 0 0.0%

  • Total voters
    12
  • Poll closed .

Gaandu No 1

Game Changer
Banned
Messages
797
Reaction score
1,137
Points
123
हेल्लो दोस्तो आज में एक बहोत ही सेक्सी कहानी ले के आया हु।

इंट्रोडक्शन :- मेरा नाम शुभम है ।
मेरी लंबाई 5.5 है में दिखने में बहोत ही हैंडशेम हु ऐसा में नही मेर दोस्त कहते है । मै अभी कॉलेज की पढ़िए पूरी कर लिया है और एक प्रिवेट कंपनी में कंप्यूटर सौफ्टवेयर का काम करता हु ।
मेरी इनकम 50,000 है । जो कि मेरे लिए बहोत अच्छा है।

मेरे परिवार में 6 लोगे है।

में

मॉम • उमा उम्र 36 साल
बॉडी 36•30•40 है। मेरी माँ एक हाउसवाइफ है ।

डैड • दिनेश जो कि एक कम्पनी मै काम करते है । उनकी इनकम 40,000 है। मेरे पापा के पास 4 वैन भी है जो किराये पे दे दिया है।

और तीन बहन है । एक मुझसे 1 साल बड़ी है उसका नाम सीतल है । फिगर 34 • 28 • 36 है। मेरी बहन ने कॉलेज कंपलेंट कर लिया है ।

दूसरी मुझसे 1 साल की छोटी है उसका नाम कोमल है । फिगर 32 • 28 • 34 है। ये अभी कॉलेज में स्टडी कर रही है ।

तीसरी मुझसे 2 साल छोटि है, उसका नाम डॉली है ।
फिगर 30 • 28 • 32 है। अभी12 क्लास में है ।

बाकी के परिचायर कहानी में मिले गी।

मे रोज की तरह मोर्निंग में 6 बजे उठाता हूँ ।
और अपने घऱ के छत पे कसरत करता हूँ । और कसरत करने के बाद में नहा के तैयार हो कर निचे आ के सभी के साथ बाते करता हूँ और अपने जॉब पे चला जाता हूँ अपनी कार से ।

लेकिन एक दिन में रोज की तरह कसरत कर रहा था कि मेरी बड़ी बहन शीतले छात पे आ के मुझे देखने लगी । फिर जब में कसरत कर के उठा तो वो मेरे कसरती बदन को देख के चोक गई फिर उसने मेरे मशल को दबा के देखा और बोला कि बहोते ही अच्छी बॉडी बनाए है , मेने उसे थैंक्स बोला और नीचे आ जाए ।

फ्रेश होने के बाद में नीचे आया और ब्रेकफास्ट कर रहा था तो मेरी सबसे छोटी बहन ने पापा से बोला कि आज संडे है, तो कही घूमने चलते है । तब पाप ने बोला कि वो वस्थे है तो छोटी उदास हो गई ।

फिर दीदी ने बोला कि हम भाई के साथ चलते है। तो सबी ने हा कहा मेने भी कहा मजबुरी में क्यों कि में आपनी बहनो को दुकी नहीं देख पाता हूँ ।

हम अपनी कार से मॉल में गए । वहाँ पहुँचे ही
कोमल ने बोला कि वो अपने लिए ड्रेस ले गी जो लेट्स लो।

डॉली - में तो मूवी देखू गी।

शीतल - में तो ड्रेस 👗 लुगी ।

मै उन सभी की पलटू की बातो को सुन रहा था ।
और मॉल में अयी लड़कियों को देख रहा था ।

मैने देखा कि एक लड़की मिनी स्कर्ट में बहते ही खूबसूरत दिख रही है। मै उसके फिगर को देखता रह गया । मै उससे बातें करने जा ही रहा था कि डोली ने मुझे बुला लिया और में मन मार के उसके पास चला गया । और उसको शॉपिंग कराने लगा ।

शीतल- लगता है कि लड़की से बहते नहीं हो पाई मेरे प्यारे भाई की ।

मै - हा आप लोगो ने बुला लिया नहीं तो हो ही जाति बातें ।

शीतल - इतना ओवर कंपेडेंस है।

मै - हा।

तब ही कोमल और डोली आ के बोलती है कि उनकी शॉपिंग हो गई है । तब मै कैश काउंटर पर पेमेंट करा और उनको ले के घर आ गया ।

लेकिन डोली थोड़ा उदास दिक रही थी मैने पूछा तो उसने बोला कि कुछ नहीं में समझ गया कि कया हुआ है मैने यू टर्न लिया और एक थियेटर पे कार रोक दिया ।
डोली - मुझे अब नहीं देखनी मूवि (गुसे से बोला)

शीतल - अब आ ही गए है तो देख ही लेते है । (मुझे देख के बोला )

मैने स्माइल दे दिया ।

कोमल - हा अब भी ले के आ ही गया है तो देख लेते है

फिर सभी कार से नीचे आते है, और में टिकट लेने चला जाता हूं ।

टिकट लेने के बाद हम अपनी सीट पे जा के भटे जाते है।
पहले डॉली, कोमल, मै, और मर साइड ने शीतल ।

अब आप ही सोचिए जिसके अलग बगल मै दो हॉट लड़की बेटी हो उसका कया हाल होगा कहेर ये सब छोड़ो में अपना पूरा ध्यान मूवी मै लयागा था क्ूंकि मूवी रोमांटिक थी ।

जब हीरो हेरोइन के साथ सेक्स का सीन अता है तो मेरी सभी बहने शर्मा जाति है

आखिर शर्माए क्यों ना वो अपने लवर् के साथ थोड़े देख रही है भाई के साथ देख रही है ।

मूवी खत्म होने के बाद सभी कार कि तरफ आते है ।

डोली - मूवी बोती अच्छी थी ।

शीतल - खाक अच्छी थी भोत खराब थी।

कोमल - अच्छी थी लेकिन आकरी में बेकार सीन थे।

मै - लास्ट वाला सीन तो बहते मजे दार था ।

कोमल और शीतल दोनों मुझे गुरने लगी

मै फिर समझ गया कि ये लोग मुझे यसे क्यों देख रही है मैने तुरंत सॉरी बोला

कोमल - सभी लड़के एक जैसे ही होते है।

शीतल - जाने दे अभी - अभी जवान हुआ है इसलिए से सब देख और बोल रहा है।

डोली - भाई को क्यों डाट रही हों तुम ही लोगो ने कहा था कि आ गए है तो देख ही लेते है । अब मूवी यशी है तो भाई कया करे ।

फिर सभी छुप हो जाते है।

हम घर पाउच कर अपनी शॉपिंग मॉम को दिखाते है फिर डिनर कर के में सोने चला जाता हूं।

To be continue.......
 

Gaandu No 1

Game Changer
Banned
Messages
797
Reaction score
1,137
Points
123
रात को जब मै पानी पीन के लिए उठा तो देखा कि शीतल के कमरे कि लाइट जल रही है ।

मै सोचा कि दीदी कुछ काम कर रही हैं। मैने टाइम देखा तो 1 बज रहे थे । फिर में कमरे के पास जा के देखा तो दीदी पूरी नगी लेटी हैं, और फोन में कुछ देख कर अपनी चूट में उगली कर रही ह में देखता रह गया।

दीदी का शारीर पूरा चमक रहा है दीदी के बूब्स पूरे साफ़ साफ़ दिख रहे थे, मैने पहली बार अपनी दीदी को ऐसी अवस्था में देखा था।

दीदी अपनी छूट में उगाली करते वक्त शिशकरी बर रही थी।

थोड़ी देर देखने के बाद मेरा भी लन्ड खड़ा हो गया और में भी मुटे मारने लगा। उधेर दीदी कि छुत से रश निकाल गया और इधर मेरा लन्ड भी पानी छोड़े दिया ।

इसके बाद मै सोने चला गया।

जब मै सो के उठा तो कसरत करने छत पे चला गया और दीदी का इंतजार करने लगा थोड़ी देर बाद दीदी कपड़े डालने छत पे आई। मै तो दीदी को देखता रह गया।

क्युकी दीदी ने लोवर और टीशर्ट पहना था। और शायद अन्दर ब्रा नहीं पहनी थी और उनकी चूचियों मुझे टीशर्ट के भहार से साफ़ दिख रही थी। मेरा ध्यान कसरत मै कम और दीदी कि चूचियों पे जदा था। थोड़ी देर बाद दिदी ने मुझे अपनी चूचियों को घूरते देख लिया।

दीदी ने मुझेसे बोला कि मुझे क्यों घुर रहा है। मै तेरी गर्लफ्रैंड थोड़ी हु।

मुझे मेरी दीदी से ये उम्मीद नहीं थी, कि दीदी मुझे एसा कुछ बोले गि। थोड़ी देर सोचने के बाद मैने बोला कि मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है, और रही बात घूरने कि तो मे देख रहा था कि मेरी दीदी कितनी सेक्सी दिख रही है ।

मेरे इस जवाब से दीदी तपाक से बोली।

दीदी - में नहीं मानती कि तेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है।

मै - सची में नहीं है।

दीदी - झूट।

मै - सच्ची।

दीदी - तू इतना हैंडसम है फिर भी गर्लफ्रेंड नहीं है, तो एसी बॉडी बनाने से कया फायदा।

मै - अपनी सेक्सी बहनो कि हिफाज़त के लिए।

दीदी - अच्छा।

मै - एक बात बोलूं ।

दीदी - बोल।

मै - तुम ही मेरी गर्लफ्रेंड बन जाओ अगर तुम्हारा कोई बॉफ्रेंड ना हो तो।

दीदी - अपनी दीदी को एसा बोलने कि हिम्मत कैसे हुई, तुमहे शर्म नहीं आती तेको।

मै - अब इसमें शर्म कि बातें कहा से आ गई ।

दीदी - ठीक ही लेकिन एक शर्ते पर बनू घ्ी।

मै - कोन सी शर्ते।

दीदी - की तू मुजसे बिना पूछे यहां वहा नहीं टच करे गा।

मै - हा नहीं करू जा

अब दीदी जाने लगी तो मैने बोला कि अपने बॉफ्रेंड को किस 😘 नहीं करो घी

तो दीदी वापास आ के मेरे होटों को अपने होटो पर ले कर किस करने लगती है, थोड़ी देर बाद मेने अपनी जीब दीदी के मु मे दे दिया और उसके जीभ को चूसने लगा।

करीब 5 मिंट्यू किस करने के बाद हम अलग हुए और अपनी सासो को इखटा करने लगे।

फिर हम नीचे आ गए ।

कोमल - गुड मॉ्निंग भाई।

मै - गुड मॉर्निंग।

कोमल - भाई मेरे कॉलेज कि फीस जमा करनी है।

मै - हा ठीक है आज जमा कर दुगा।

कोमल - ओके।

मै - मेरे साथ चलना

पापा - कितनी जमा करनी है ये तो पूछ लो

कोमल - २०,०००

पापा - ठीक है।

मै - मॉम क्या बना है आज।

मॉम - आलू के परते।

मै - मेरे पसदीदा है।

मॉम - पता है।

फिर डोली भी आ जाती है । स्कूल कि ड्रेस में बोता सेक्सी दिख रई थी।

डोली - गुड मॉर्निंग भाई।

मे - क्या बात है आज सूरज पश्चिम से तो नही निकला है।

डोली - (गूसे से ) मतलब आपको मूजसे बातें नहीं करना है।

मै - अरे मेरी गुड़िया नाराज मत हो । मै तो मजाक कर रहा हूं।

डोली - भाई मुझे १००० रुपए चाहिए। प्लीज़ दे दो ना।

मेने भी जादा कुछ नहीं सोचा और १००० रूपए दे दिया।
डोली खुश हो के मुझे चूम लिया।

इसके बाद हम ने ब्रेकफास्ट कर के में और कोमल कॉलेज के लिए चले गए।

रास्ते में हमारी कुछ ज्दा बात नहीं हुई।

कॉलेज पाउच कर मेने फीस जमा कराई और अपने ऑफिस चला गया।

कोमल अपने दोस्तो के साथ चली गई।

नेहा (कोमल कि दोस्त) - यार तेरा भाई भोते हैंडसम हैं यार।

गीता - हा यार, कास मेरा बॉफ्रेंड बन जाता।

कोमल - ओय वो मेरा भाई है,

नेहा - हमने कब बोला कि वो तेरा ब्वायफ्र है।

गीता - कोमल क्या तेरे भाई कि कोई गर्लफरेंड है।

कोमल - मेको नहीं मालूम है।
 
Last edited:

urc4me

Well-Known Member
Messages
12,065
Reaction score
19,910
Points
143
Achchhi shuruaat. Intejar hai agle update ka
 

Gaandu No 1

Game Changer
Banned
Messages
797
Reaction score
1,137
Points
123
Update - 3

गीता - हा यार, कास मेरा बॉफ्रेंड बन जाता।

कोमल - ओय वो मेरा भाई है,

नेहा - हमने कब बोला कि वो तेरा ब्वायफ्र है।

गीता - कोमल क्या तेरे भाई कि कोई गर्लफरेंड है।

कोमल - मेको नहीं मालूम है।

अब आगे....

गीता - इतना हैंडसम हैं, गर्लफ्रेंड तो होगी ही

कोमल - तुम लोग फालतू बक्वास बंद करो और क्लास में चलो।

इसके बाद कोमल और उसकी फ्रेंड्स क्लास मै चले गए ।

इधर शुभम अपनी कंपनी में पाउच कर अपने काम मै लगे रहता है। शाम को घर आ जाता है।

घर पऊच कर घंटी बजता है, तो डोली गेट खोलती है।

डॉली को देख कर शुभम चौक जता है। क्यों कि डोली शिरफ़ एक टॉवल पर थी, सयाद नहा के आ रही हों

उसके जिस्म पर पानी के कुछ बूंद थे, और बाल पूरे बीगे थे।

अचानक उसके जिस्म से टॉवल गिर जाती है, और उसके दूध की तरह सफेद जिस्म को देकता रह गया। उसके बूब्स ब्रा के अंदर कदे थे, उसकी चुत पर जो पैंटी चिपकी थी।

मै तो बस आंके फाड़ कर देख रहा था, डाली फटाक से टॉवल उठा कर अपने कमरे में भाग जाती है।

मै भी अपने कमरे में आ कर फ्रेश होने लगता हूं, इसके बाद नीचे आ जाता हूं। सब को ढूंदने लगता हूं। पर कोई दिखाई नहीं देता।

फिर डॉली अपने कमरे से बाहर निकल कर मेरे पास आई, तो मैने बोला कि बाकी सब कहा गए है तो वो बोली कि सभी पापा के दोस्त के बर्थडे पार्टी में गए है।

मै - सॉरी।

डोली - किस लिए।

मे - तुम्हे वैसे हालत में घूर कर देख रहा था इस लिए।

डाली - अरे उसमे मेरी ग़लती थी।

मे - तो भी देख तो मै तुम्हे वैसे ही रहा था,

डोली - चलो छोड़ो वो सब कया खाओ गे।

मे - जो तुम्हे बनना चाहती हो

डाली - ठिक है

मै - एक बात बोलूं में

डाली - बो लो

मै - तुम बोहते ही सुन्दर दिख रही थी।

डाली - (खुश हो कर ) सच्ची

मै - हा।

डाली - थैंक्स भाई ।

मै - कोई नहीं

इसके बाद मेकों क्या पता क्या हुआ मे उसके होटों को चूमने लगा वो मुझे अपने से ढूरे करने लगी, लेकिन में उसको किस्स करते रहा

थक हार कर वो भी मेरा साथ देने लगी 😘 किस्स करने में।

इसके बाद हम दोनों एक दूसरे से लिपट गए।

मै उसके गरदन पर किस्स करने लगा वो अहे भरने लगी ।

गरदन पर किस्स करते हुए मेने अपने हाथ उसके बूब्स पर रख कर दबाने लगा वो भी अब पूरी मस्ती से मेरे साथ देने लगी।
अब मैं उसको किस्स करने के साथ साथ उसके बूब्स को दबाने लगा वो मस्त हो कर सिसकारियां निकालने लगी।

10 मिनट बाद ऐसे करने के बाद हम दोनों एक दूसरे से अलग हुए।

डोली मुझे नज़रे नहीं मिल रही थी, तो मेने उसकी ढोड़ी को पकड़ कर ऊपर किया तो वो अपनी आंखें बन्द कर ली।

मेने कहा कि आई लव यू ।

तो उसने भी मुझे चूम कर बोली आई लव यू टू।
इसके बाद हम दोनों एक दूसरे से लिपट गए।

मेने बोला कि मुझे तेरे चुत का रस पीना है इस पर बोली कि पी लो मेने कब मना बोला है। लकैन अभी नहीं मॉम डैड कभी भी आ सकते हैं।

फिर मेने भी बोला कि रात को पिला दे

डोली - ठीक है।

मै - अब टीवी देखने लगा।

इतने में बाहर घंटी बज रही थी। मै उठे कर गेट खोला तो देखा कि शीतल, कोमल और मम्मी पापा ते ।

वो लोग अंदर आ गए। मै सभी से बाते करने लगता हूं।

इसके बाद मै ओर डाली खाना खाने लगते है। फ़िर मैं सब को सोने का बोल कर चला जाता हूं।

और अपने कमरे मे आ कर में अपने लन्ड के झाटो को साफ़ करने लगा। और फ्रेश हो कर लेट गया।

करीब 11 : 30 पर में उठा और डोली के कमरे कि तरफ जाने लगा।
हमारा घर बोहात बड़ा है इस लिए सब के पर्सनल कमरे है।

मै डोली के कमरे में पाउच कर देखा तो मै सन रह गया क्यों की डोली कमरे मे नहि थी।

मुझे डोली पर भोत गुस्सा आ रहा था कि वह मुझे बुला कर कहा चली गई।
 
Tags
bhabhi devar family love family sex family sex stories full family sex girlfriend sister sex stories
Top

Dear User!

We found that you are blocking the display of ads on our site.

Please add it to the exception list or disable AdBlock.

Our materials are provided for FREE and the only revenue is advertising.

Thank you for understanding!