Incest पुरा परिवार हवस का शिकार

  • You need a minimum of 50 Posts to be able to send private messages to other users.
  • Register or Login to get rid of annoying pop-ads.

कहानी का हीरो आप किसे समझ रहे हो ??


  • Total voters
    28
  • Poll closed .

Prince_007

Member
Messages
103
Reaction score
778
Points
93
माफ़ी चाहता हूँ अपने पाठकों से 🙏 आज रात से अपडेट देना शुरू करता हूँ । कृपया धैर्य बनाये रखें ।
 

Rinkp219

Active Member
Messages
1,848
Reaction score
2,776
Points
143
माफ़ी चाहता हूँ अपने पाठकों से 🙏 आज रात से अपडेट देना शुरू करता हूँ । कृपया धैर्य बनाये रखें ।
Besabri se intezar hai
 

Ssking

Active Member
Messages
1,292
Reaction score
1,516
Points
143
Bahut jyda cherecter kaf diye air ek sath itni story sab khichadi ban rhi hai hai
 

Punnu

Active Member
Messages
1,041
Reaction score
2,021
Points
143
माफ़ी चाहता हूँ अपने पाठकों से 🙏 आज रात से अपडेट देना शुरू करता हूँ । कृपया धैर्य बनाये रखें ।
Kab tak update aayega... bro
 

Prince_007

Member
Messages
103
Reaction score
778
Points
93
Bahut jyda cherecter kaf diye air ek sath itni story sab khichadi ban rhi hai hai
कहानी भी तो परिवार पे हैं और जो जैसा सोचता हैं वैसा लिखता हैं । अंत में एक ही होना हैं सब कुछ बाकी पढ़ना ना पढ़ना आपकी मर्ज़ी
 

Prince_007

Member
Messages
103
Reaction score
778
Points
93
अपडेट 33



रोहन एक कमरे में बैठा था । तभी तिवारी आया जिसको देख रोहन ने प्रणाम किया ।

" कैसे हो रोहन ?
" जी आप ने मुझे क्यों बुलाया हैं ।
" तुम्हें पता हैं मैं कौन हूँ
" जी हाँ आज ही विक्की ने बताया की वो विधायक का बेटा हैं। जो आप हैं।
" अच्छा तो देखो मैं घुमा के बात नही करूंगा सीधा बोलता हैं । सुना हैं तुम्हारी एक जवान बहन हैं जिसकी जवानी उबाल मार रही हैं । उसपे ध्यान दो वरना कोई लूट लेगा उसको,

" रोहन ऑंखें बड़ी करके बोला क्या बोल रहे हैं आप मेरी बहन ऐसी वैसी नही हैं वो बहुत अच्छी लड़की हैं ।
" वो तो अच्छी हैं पर जिनके घर में रहते हो वो अच्छे नही हैं ।
" आप कहना क्या चाहते हो ? रोहन ने सांवलिया नज़र से उससे पूछा।
" सुरेश तुम्हारा फूफ़ा और उसका बेटा राहुल वो तुम्हारी बहन को लूटने के लिए पागल हो चुके हैं ।
" क्या बकवास कर रहे हो आप।
" मैं तो सच ही बता रहा हूँ वैसे भी सुरेश तो पहले भी तुम्हारी माँ के यौवान से खेलने की कोशिश कर चुका हैं ।तो तुम्हारी बहन क्या चीज़ हैं उस हवसी परिवार के लिए।

" रोहन अपनी माँ के बारे में सुन के चौंक गया और बोला क्या मेरी माँ उनके साथ क्या हुआ था और आप कैसे जानते हो।
" तुम्हारी माँ की इज़्ज़त लूटने की कोशिश कर चुका हैं सुरेश इसीलिये तो तुम्हारी माँ कभी भी सुरेश के घर नही आती हैं ।और जब वो तुम्हारी माँ के साथ गलत करने का सोच सकता हैं तो तुम्हारी बहन भी खतरे में हैं ।
" ये सुन के रोहन का दिमाग़ चकरा गया और उसका दिमाग़ घूमने लगा उसको अपनी माँ की बातें याद आने लगी जब भी उसको दिल्ली चलने को बोलते थे वो मना करती थी तो क्या सच में फूफ़ा ने माँ की इज़्ज़त लूटने की कोशिश की थी ।वो अपने ही मन के अंदर सवाल किये जा रहा था और जवाब भी खुद ही दे रहा था।

" क्या हुआ रोहन ,तिवारी ने उसको हिलाते हुए बोला ।
" जी कुछ नही ।
" देखो रोहन मैं जो भी बोला हूँ सच बोला हूँ मैंने पता किया था जब विक्की बोला की तुम उसके अच्छे दोस्त हो तो तुम्हारे गाँव से पता करवाया हैं ।
" जी मैं चलता हूँ बोलकर रोहन घर के लिए निकल गया ।
" तिवारी मुस्कुरा के अपने में ही बोला काम हो गया।

तभी विक्की, अजय,रामदास ,गुड्डू और मिस्टर एक्स
आये।

" पापा क्या हुआ काम बना की नही।
" तिवारी मुस्कुरा के बोला तीर मार दिया हैं देखते हैं कब उसको लगता हैं ।

************

इधर आरोही टीवी देख रही थी साथ में निधि बरखा भी बैठी थी । तभी दरवाजे की घंटी बजी और निधि जाकर दरवाजा खोली तो रोहन सामने खड़ा था दोनों अंदर आये तभी बरखा बोली।

" बेटा कहा गया था अकेले ऐसे अकेले मत जाया कर तेरी माँ मुझे ही बोलेगी ।
" कही नही बुआ जी राहुल कहा हैं रोहन ने पूछा ।
" कमरे में होगा जा जाकर मिल ले ।

रोहन पहुंचा ही था की दरवाजे से ही उसने अंदर का नज़ारा देखा जिसकी उम्मीद उसे नही थी उसके कदम वही रुक गये।
अंदर राहुल और आयेशा के होंठ मिले हुए थे आयेशा कि आँखें बंद थी और राहुल बेशर्म होकर उसके होठों को चूसने में लगा था। दोनों जन्म के प्यासे लग रहे थे ।ऐसे चुम्मे से रोहन का दिल जल गया। इधर दोनों एक दूसरे की जीभ से जीभ लगाकर खेल रहे थे। दोनों का ही मुँह लार से साराबोर हो चुका था ।राहुल ने आहिस्ता से अपने हाथों को आयेशा की चूचियों पे ले गया और दबाने और सहलाने लगा जिससे आयेशा मचलने लगी और तेज़ी से होठों की चुसाई करने लगी दोनों के जिस्म में आग बढ़ने लगी थी ।


तभी पीछे से निधि बोली भाई तुम यहाँ क्यों खड़े हो ।निधि की आवाज़ से आयेशा और राहुल एक दम से अलग हुए दोनों की साँसे उखाड़ी हुई थी । और इधर रोहन की आँखों में पानी आ चुका था ।उसने आँखों से पानी को पोछा और बोला कुछ नही ।राहुल और आयेशा दोनों ही घबरा गये थे की आयेशा उठकर निचे चली गयी और राहुल भी उठ के जाने लगा

**************

इधर आरोही अपने भईया से नाराज़ हो गयी थी ।
" जाओ भईया मुझे बात नही करनी हैं आप से, आप बहुत गंदे हो मुझसे प्यार नही करते । आप को तो बस निशा से प्यार हैं ।
" मेरी गुड़िया आरोही किसने बोला की मैं तुमको प्यार नही करता सबसे ज़्यादा प्यार तो तुझसे ही हैं ।राहुल आरोही को बाहों में भरते हुए बोला ।
" झूठे कहे के जब से वो निशा से नैन मटका लड़ाएं हो मुझे तो भूल ही गये हो उस कमीनी ने मेरी जगह ले ली आरोही मुँह फुलकर बोली।

" हम्म..मेरी गुड़िया मुँह मत फुला नही तो एक दिन तेरा पेट फुला दूंगा।
" क्या...क्या बोले आरोही, राहुल को देखते हुए बोली ।
जब राहुल को एहसास हुआ की वो क्या बोल गया था वो मुस्कुरा दिया जिसे देख आरोही ने एक जोर का मुक्का उसके पेट में मारा और मुस्कुरा के बोली आप कितने गंदे हो ।
दोनों भाई बहन की मस्ती ऐसे ही चलती रही और शाम हो गयी ।

***********

रोहन जिम में विक्की और अजय से बातें कर रहा था की राहुल और निधि ने उसको देखा और चौंक गये की रोहन उनसे बात क्यों कर रहा । और कब से कर रहा हैं।

" मैं तो पहले ही बोला था की राहुल हरामी है उसकी नज़र तुम्हारी बहन पे है । विक्की बोला ।
" तुम भी उसकी बहनों को चोदो साली क्या माल है अजय ने निधि की गांड के उभार को देखते हुए बोला ।
" मुझे क्या करना होगा रोहन ने एक प्रश्न किया ।
" तुम कल मिलना पुरा प्लान तुमको बता देंगे फिर मिलकर उसकी बहनें चोदेंगे ।

तीनों ही हँसते हुए अलग हो गये और रोहन निधि और राहुल की तरफ आता दिखाई दिया ।

" क्या भाई उन लोगों से कब से बात करने लगा हैं ।राहुल ने रोहन से एक प्रश्न किया।
" अरे वो लोग तो बहुत अच्छे हैं मेरे दोस्त हैं ।
" वो और अच्छे निधि ने गुस्से से देखा और बहार जाने लगी ।
" रोहन तुझे पता हैं वो वही लोग हैं जिन लोगों ने निधि दीदी ,आरोही और मुझे परेशान कर रहे थे और तु उन लोगों से बात कर रहा हैं ।

" देख राहुल जो भी हुआ वो पुरानी बात हैं वो इतने भी बुरे नही हैं और घर जाने के लिए निकल गया ।
" लगता हैं बहुत जल्दी ही इस राहुल भोसड़ी वाले की बहनें चोदेंगे। अजय ने उत्सुक होकर कहा और दोनों हँसते हुए उनको देखते रहे ।

**********

रात को सब खाना खा रहे थे । तभी बरखा बोली की भैया कल दिल्ली आ रहे हैं । ये सुनकर आयेशा खुश हो गयी ।और बोली ।

" सच बुआ कल पापा आ रहे हैं क्या मम्मी भी साथ में हैं।
" हाँ बरखा ने भी मुस्करा के जवाब दिया ।

बारी बारी सब खाना खाकर उठने लगे । आरोही और निधि ने टीवी चालू किया और देखने बैठ गयी इधर आयेशा और गरिमा किचन में बर्तन साफ करने लगी ।
राहुल , रोहन को साइड में लेकर गया और बोला

" देख रोहन वो लोग अच्छे नही हैं समझ बात को वो तेरा इस्तेमाल कर रहे हैं ।मुझे लगता हैं उनकी कोई चाल हैं ।
" बस राहुल तुझे हो क्या गया है वो मेरे दोस्त है समझा तुझे और तेरी बहनों को परेशान किया तो उसमे उनकी जितनी गलती होगी उतनी तेरी और बहनों की भी होगी ।

" ये तु क्या बोल रहा हैं वो भी तु ,रोहन तु ठीक तो हैं ना राहुल ने रोहन के हाथ को पकड़ के बोला ।
" क्या निधि दीदी और आरोही सिर्फ मेरी बहनें हैं तेरी कुछ भी नही हैं ।
" हाँ में ठीक हूं और अब कुछ मत बोलना ठीक है चल टीवी देखते है।

इधर आरोही के साथ में राहुल जाकर बैठाता हैं ।दूसरी बगल में निधि के साथ रोहन ,तभी आयेशा भी आकर राहुल से चिपक के बैठ जाती हैं।

" क्या देख रहे हो यार ये बोरिंग सीरियल राहुल ने आरोही से रिमोट लेते हुए बोला।
" भईया रहने दो ना मेरा पसंदीता टीवी सीरियल हैं।आरोही ने बड़े प्यार से बोला।
" अच्छा बाबा देख ले ।

सब मिलकर टीवी देखने लगते हैं।धीरे धीरे सब उठ के सोने जाने लगते हैं।अब सिर्फ रोहन और निधि ही रह गये थे।
" भाई तु उन लोगों से बात मत किया कर बहुत गंदे लोग हैं वो ,
" दीदी आप कहो तो नहीं करूंगा रोहन ने निधि की जाँघ को सहलाते हुए बोला।

निधि ने रोहन का हाथ अपनी गोरी चिकनी जाँघ पे अचानक ही महसूस किया तो वो रोहन को देखने लगी दोनों की नज़र मिली और दोनों मुस्कुरा दिये ।

" हम्म..अच्छा जी वो सब तो ठीक हैं पर हाथ गलत जगह नही हैं निधि मुस्कुरा के बोली ।
" दीदी हाथ तो सही जगह हैं रोहन ने हाथ से हलके से निधि की चिकनी जाँघ को सहलाते हुए बोला।
" ठीक हैं बोलकर निधि अपने कमरे में चली गयी।

इधर रोहन अपने मन में साली तुझे तो चोद के रहूंगा और चुदवा के भी कुतिया साली।

********

आरोही तेरा कोई आशिक़ नही हैं क्या कॉलेज में आयेशा ने आँख मार के आरोही से पूछा।
" दीदी क्या तुम भी मैं ऐसी वैसी नही हूँ ।
" अच्छा जी तो वहा खुजली नही होती क्या आयेशा मुस्कुरा के बोली।
" आप तो बहुत गंदी हो छी.. कितनी गंदी बातें करती हो।
" ये गंदी बातें नही हैं मेरी जान असली मज़ा तो इसी में हैं कभी ले के देख अपने राहुल भईया का और हँसने लगी।
" आ..दीदी छी... आप से बात नही करनी ।

**********

गरिमा के फोन में एक रिंग हुई उसने देखा तो एक मैसेज आया था उसने खोल के देखा तो राहुल का मैसेज था ।
# (दीदी आप सो गयी क्या )
गरिमा ने भी टाइप करके कुछ भेजा जो राहुल के पास आया उसने देखा तो लिखा था ।
# (नही अभी नही सोई छत पे टहल रही हूँ )

# ( अच्छा ठीक हैं मैं भी आता हूँ बोलकर निकल गया।)

हलकी हलकी हवाओं के बीच गरिमा छत पे इधर से उधर हो रही थी। तभी उसने राहुल को देखा ।

" दीदी सोना नही हैं क्या ऑफिस नही जाओगी ।राहुल ने आते ही एक सवाल किया ।
" गरिमा अभी भी कुछ दिन पहले की बात से शर्मिंदा थी और वो दूसरी तरफ मुँह किये हुए खड़ी रही।
तभी राहुल फिर बोला ।
" देखो दीदी मेरा ऐसा कोई इरादा नही था की मैं आपकी और पापा के प्यार के बीच आऊं पर क्या मेरा हक़ नही की मैं भी आपका वो प्यार ले सकूँ।

गरिमा ने नज़रे निचे किये हुए ही पलटी और बोली।

" भाई मुझे माफ़ कर दे मैं जवानी और हवस में भूल गयी थी की वो मेरे पापा हैं। पर जब होश आया तो बहुत देर हो चुकी थी।

राहुल गरिमा के करीब आया और उसके चेहरे को अपने हाथों से ऊपर किया तो उसको हलकी रौशनी में दिखाई दिया की उसकी आँखें में आँसू हैं। वो अचानक ही बैठ गया और बोला ।

" उसने गरिमा के पैर को चूम के बोला ।दीदी आप रो क्यों रही हो।
अचानक ही गरिमा को अपने पैर पे राहुल के होठों का एहसास हुआ तो वो सिहर उठी और बोली ।
" भाई ऐसा मत कर तु मेरा भाई हैं उसने राहुल को उठाया और उसके गले लग गयी।
दोनों ही छत पे रात में एक दूसरे के जिस्म से लिपटे हुए एक दूसरे से माफ़ी मांग रहे थे ।
" दीदी आप शर्मिंदा मत महसूस करो आप की कोई गलती नही हैं ।

दोनों के जवान जिस्म एक दूसरे के जिस्म में गर्मी पैदा कर रहे थे गरिमा की मोटी चूची राहुल के छाती में दबी हुई एक अलग ही एहसास को जन्म दे थी। दोनों के अंदर एक तूफान उठने का संकेत होने लगा था की वो दोनों अलग हुए और एक दूसरे को देखने लगे । राहुल ने अपने हाथो से अपनी दीदी के आँसू पोछे, तभी गरिमा के होठ हिले और बोली ।

" शुक्रिया भाई मुझे लगा तु मुझे गंदी लड़की समझेगा ।
" दीदी इसमे गंदी क्या हैं जो आप कर रही थी वो तो सब करना चाहते हैं राहुल मुस्कुरा के साथ बोला।

दोनों की नज़र एक बार फिर मिली।और इस बार गरिमा भी मुस्कुरा दी ।
" वैसे दीदी पापा ज़्यादा मज़ा देते हैं क्या ।राहुल ने गरिमा को छेड़ते हुआ बोला।
" गरिमा ने राहुल को देखा और बोली बहुत कमीना हैं तु और उसके कान पकड़ ली।
" आह्ह..दीदी दर्द होता हैं ।छोड़ो ना राहुल ने हाथ मरना चालू किया और अचानक ही उसका हाथ गरिमा की चूची से जा टकराया। जो राहुल को गरम गरम सा महसूस हुआ ।इस अचानक हुए एहसास से गरिमा सिहर गयी और दोनो की नज़रे मिली ।जैसे आँखों ही आँखों में बोल रहे हो ।क्या हमें भी करना चाहिए । तभी एक ठंडी हवा का झुका आया और अचानक ही दोनों के होंठ मिल गये। कुछ देर एक दूसरे के होठों को होठों में लेकर खड़े रहे और तभी राहुल के होंठ हिले और उसने गरिमा के होठों को चूम के चूसने लगा ।कभी निचे के तो कभी ऊपर के बारी बारी राहुल अपनी दीदी के होठों को चूसे जा रहा था । कुछ देर ऐसे ही चलता रहा और गरिमा ने भी साथ देना शुरू कर दिया । छत पे खड़े भाई और बहन एक दूसरे के होठों को होठों में भर के चूसे जा रहे थे । दोनों ही भूल चुके थे की वो कहा खड़े हैं। गरिमा ने ढेर सारा थूक राहुल के मुँह में भर दिया जिसे राहुल ने मलाई की तरह पीता गया। जीभ से जीभ की लड़ाई होने लगी थी ।दोनों के बदन में झुरझुरी होने लगी ।गरिमा का एक हाथ राहुल के सर पे था और वो उसके बालों को रगड़ रही थी दूसरा हाथ से वो उसकी पीठ को सहलाने में लगी थी ।इधर राहुल का एक हाथ गरिमा की गांड की गोलाई को मसलने में लगा हुआ था वो हलके हलके गरिमा की गांड के उभार को रगड़ रगड़ के मज़ा उठा रहा था । दूसरे हाथ से वो गरिमा की पीठ को मसले जा रहा था ।दोनों का जिस्म अब आग उगलने लगा था।

********

इधर रोहन अपने कमरे में गया तो देखा राहुल नही हैं उसने सोचा ये कहा जा सकता हैं इस समय उसने कुछ सोचा और चल दिया ।
आरोही और आयेशा में ऐसे ही नोक झोक होती रही और आयेशा ने मज़ाक मज़ाक में राहुल से चुदवाने का बोल दिया जिससे आरोही शर्मा गयी । दोनों ही बेखबर थी की छत पे राहुल और गरिमा क्या गुल खिला रहे हैं दोनों ही क्या पुरा परिवार ही बेखबर था।

निधि ने गरिमा को कमरे में ना पाकर अलमारी खोली और एक सेक्सी ड्रेस जो वो पहन के सोना चाहती थी पहन ली और रोहन के हाथ के छूने के उस एहसास को महसूस करने लगी ।

********
इधर सुरेश अब जल्दी सोने लगा था जब से गरिमा और उसकी चुदाई राहुल ने भंग की थी तब से वो किचन के नाम से ही डरने लगा था । बरखा को आज नींद नही आ रही थी तो वो सोची छत पे टहल लेती हूँ ।
 
Last edited:

Sharmamonu

New Member
Messages
13
Reaction score
9
Points
3
अपडेट 33



रोहन एक कमरे में बैठा था । तभी तिवारी आया जिसको देख रोहन ने प्रणाम किया ।

" कैसे हो रोहन ?
" जी आप ने मुझे क्यों बुलाया हैं ।
" तुम्हें पता हैं मैं कौन हूँ
" जी हाँ आज ही विक्की ने बताया की वो विधायक का बेटा हैं। जो आप हैं।
" अच्छा तो देखो मैं घुमा के बात नही करूंगा सीधा बोलता हैं । सुना हैं तुम्हारी एक जवान बहन हैं जिसकी जवानी उबाल मार रही हैं । उसपे ध्यान दो वरना कोई लूट लेगा उसको,

" रोहन ऑंखें बड़ी करके बोला क्या बोल रहे हैं आप मेरी बहन ऐसी वैसी नही हैं वो बहुत अच्छी लड़की हैं ।
" वो तो अच्छी हैं पर जिनके घर में रहते हो वो अच्छे नही हैं ।
" आप कहना क्या चाहते हो ? रोहन ने सांवलिया नज़र से उससे पूछा।
" सुरेश तुम्हारा फूफ़ा और उसका बेटा राहुल वो तुम्हारी बहन को लूटने के लिए पागल हो चुके हैं ।
" क्या बकवास कर रहे हो आप।
" मैं तो सच ही बता रहा हूँ वैसे भी सुरेश तो पहले भी तुम्हारी माँ के यौवान से खेलने की कोशिश कर चुका हैं ।तो तुम्हारी बहन क्या चीज़ हैं उस हवसी परिवार के लिए।

" रोहन अपनी माँ के बारे में सुन के चौंक गया और बोला क्या मेरी माँ उनके साथ क्या हुआ था और आप कैसे जानते हो।
" तुम्हारी माँ की इज़्ज़त लूटने की कोशिश कर चुका हैं सुरेश इसीलिये तो तुम्हारी माँ कभी भी सुरेश के घर नही आती हैं ।और जब वो तुम्हारी माँ के साथ गलत करने का सोच सकता हैं तो तुम्हारी बहन भी खतरे में हैं ।
" ये सुन के रोहन का दिमाग़ चकरा गया और उसका दिमाग़ घूमने लगा उसको अपनी माँ की बातें याद आने लगी जब भी उसको दिल्ली चलने को बोलते थे वो मना करती थी तो क्या सच में फूफ़ा ने माँ की इज़्ज़त लूटने की कोशिश की थी ।वो अपने ही मन के अंदर सवाल किये जा रहा था और जवाब भी खुद ही दे रहा था।

" क्या हुआ रोहन ,तिवारी ने उसको हिलाते हुए बोला ।
" जी कुछ नही ।
" देखो रोहन मैं जो भी बोला हूँ सच बोला हूँ मैंने पता किया था जब विक्की बोला की तुम उसके अच्छे दोस्त हो तो तुम्हारे गाँव से पता करवाया हैं ।
" जी मैं चलता हूँ बोलकर रोहन घर के लिए निकल गया ।
" तिवारी मुस्कुरा के अपने में ही बोला काम हो गया।

तभी विक्की, अजय,रामदास ,गुड्डू और मिस्टर एक्स
आये।

" पापा क्या हुआ काम बना की नही।
" तिवारी मुस्कुरा के बोला तीर मार दिया हैं देखते हैं कब उसको लगता हैं ।

************

इधर आरोही टीवी देख रही थी साथ में निधि बरखा भी बैठी थी । तभी दरवाजे की घंटी बजी और निधि जाकर दरवाजा खोली तो रोहन सामने खड़ा था दोनों अंदर आये तभी बरखा बोली।

" बेटा कहा गया था अकेले ऐसे अकेले मत जाया कर तेरी माँ मुझे ही बोलेगी ।
" कही नही बुआ जी राहुल कहा हैं रोहन ने पूछा ।
" कमरे में होगा जा जाकर मिल ले ।

रोहन पहुंचा ही था की दरवाजे से ही उसने अंदर का नज़ारा देखा जिसकी उम्मीद उसे नही थी उसके कदम वही रुक गये।
अंदर राहुल और आयेशा के होंठ मिले हुए थे आयेशा कि आँखें बंद थी और राहुल बेशर्म होकर उसके होठों को चूसने में लगा था। दोनों जन्म के प्यासे लग रहे थे ।ऐसे चुम्मे से रोहन का दिल जल गया। इधर दोनों एक दूसरे की जीभ से जीभ लगाकर खेल रहे थे। दोनों का ही मुँह लार से साराबोर हो चुका था ।राहुल ने आहिस्ता से अपने हाथों को आयेशा की चूचियों पे ले गया और दबाने और सहलाने लगा जिससे आयेशा मचलने लगी और तेज़ी से होठों की चुसाई करने लगी दोनों के जिस्म में आग बढ़ने लगी थी ।


तभी पीछे से निधि बोली भाई तुम यहाँ क्यों खड़े हो ।निधि की आवाज़ से आयेशा और राहुल एक दम से अलग हुए दोनों की साँसे उखाड़ी हुई थी । और इधर रोहन की आँखों में पानी आ चुका था ।उसने आँखों से पानी को पोछा और बोला कुछ नही ।राहुल और आयेशा दोनों ही घबरा गये थे की आयेशा उठकर निचे चली गयी और राहुल भी उठ के जाने लगा

**************

इधर आरोही अपने भईया से नाराज़ हो गयी थी ।
" जाओ भईया मुझे बात नही करनी हैं आप से, आप बहुत गंदे हो मुझसे प्यार नही करते । आप को तो बस निशा से प्यार हैं ।
" मेरी गुड़िया आरोही किसने बोला की मैं तुमको प्यार नही करता सबसे ज़्यादा प्यार तो तुझसे ही हैं ।राहुल आरोही को बाहों में भरते हुए बोला ।
" झूठे कहे के जब से वो निशा से नैन मटका लड़ाएं हो मुझे तो भूल ही गये हो उस कमीनी ने मेरी जगह ले ली आरोही मुँह फुलकर बोली।

" हम्म..मेरी गुड़िया मुँह मत फुला नही तो एक दिन तेरा पेट फुला दूंगा।
" क्या...क्या बोले आरोही, राहुल को देखते हुए बोली ।
जब राहुल को एहसास हुआ की वो क्या बोल गया था वो मुस्कुरा दिया जिसे देख आरोही ने एक जोर का मुक्का उसके पेट में मारा और मुस्कुरा के बोली आप कितने गंदे हो ।
दोनों भाई बहन की मस्ती ऐसे ही चलती रही और शाम हो गयी ।

***********

रोहन जिम में विक्की और अजय से बातें कर रहा था की राहुल और निधि ने उसको देखा और चौंक गये की रोहन उनसे बात क्यों कर रहा । और कब से कर रहा हैं।

" मैं तो पहले ही बोला था की राहुल हरामी है उसकी नज़र तुम्हारी बहन पे है । विक्की बोला ।
" तुम भी उसकी बहनों को चोदो साली क्या माल है अजय ने निधि की गांड के उभार को देखते हुए बोला ।
" मुझे क्या करना होगा रोहन ने एक प्रश्न किया ।
" तुम कल मिलना पुरा प्लान तुमको बता देंगे फिर मिलकर उसकी बहनें चोदेंगे ।

तीनों ही हँसते हुए अलग हो गये और रोहन निधि और राहुल की तरफ आता दिखाई दिया ।

" क्या भाई उन लोगों से कब से बात करने लगा हैं ।राहुल ने रोहन से एक प्रश्न किया।
" अरे वो लोग तो बहुत अच्छे हैं मेरे दोस्त हैं ।
" वो और अच्छे निधि ने गुस्से से देखा और बहार जाने लगी ।
" रोहन तुझे पता हैं वो वही लोग हैं जिन लोगों ने निधि दीदी ,आरोही और मुझे परेशान कर रहे थे और तु उन लोगों से बात कर रहा हैं ।

" देख राहुल जो भी हुआ वो पुरानी बात हैं वो इतने भी बुरे नही हैं और घर जाने के लिए निकल गया ।
" लगता हैं बहुत जल्दी ही इस राहुल भोसड़ी वाले की बहनें चोदेंगे। अजय ने उत्सुक होकर कहा और दोनों हँसते हुए उनको देखते रहे ।

**********

रात को सब खाना खा रहे थे । तभी बरखा बोली की भैया कल दिल्ली आ रहे हैं । ये सुनकर आयेशा खुश हो गयी ।और बोली ।

" सच बुआ कल पापा आ रहे हैं क्या मम्मी भी साथ में हैं।
" हाँ बरखा ने भी मुस्करा के जवाब दिया ।

बारी बारी सब खाना खाकर उठने लगे । आरोही और निधि ने टीवी चालू किया और देखने बैठ गयी इधर आयेशा और गरिमा किचन में बर्तन साफ करने लगी ।
राहुल , रोहन को साइड में लेकर गया और बोला

" देख रोहन वो लोग अच्छे नही हैं समझ बात को वो तेरा इस्तेमाल कर रहे हैं ।मुझे लगता हैं उनकी कोई चाल हैं ।
" बस राहुल तुझे हो क्या गया है वो मेरे दोस्त है समझा तुझे और तेरी बहनों को परेशान किया तो उसमे उनकी जितनी गलती होगी उतनी तेरी और बहनों की भी होगी ।

" ये तु क्या बोल रहा हैं वो भी तु ,रोहन तु ठीक तो हैं ना राहुल ने रोहन के हाथ को पकड़ के बोला ।
" क्या निधि दीदी और आरोही सिर्फ मेरी बहनें हैं तेरी कुछ भी नही हैं ।
" हाँ में ठीक हूं और अब कुछ मत बोलना ठीक है चल टीवी देखते है।

इधर आरोही के साथ में राहुल जाकर बैठाता हैं ।दूसरी बगल में निधि के साथ रोहन ,तभी आयेशा भी आकर राहुल से चिपक के बैठ जाती हैं।

" क्या देख रहे हो यार ये बोरिंग सीरियल राहुल ने आरोही से रिमोट लेते हुए बोला।
" भईया रहने दो ना मेरा पसंदीता टीवी सीरियल हैं।आरोही ने बड़े प्यार से बोला।
" अच्छा बाबा देख ले ।

सब मिलकर टीवी देखने लगते हैं।धीरे धीरे सब उठ के सोने जाने लगते हैं।अब सिर्फ रोहन और निधि ही रह गये थे।
" भाई तु उन लोगों से बात मत किया कर बहुत गंदे लोग हैं वो ,
" दीदी आप कहो तो नहीं करूंगा रोहन ने निधि की जाँघ को सहलाते हुए बोला।

निधि ने रोहन का हाथ अपनी गोरी चिकनी जाँघ पे अचानक ही महसूस किया तो वो रोहन को देखने लगी दोनों की नज़र मिली और दोनों मुस्कुरा दिये ।

" हम्म..अच्छा जी वो सब तो ठीक हैं पर हाथ गलत जगह नही हैं निधि मुस्कुरा के बोली ।
" दीदी हाथ तो सही जगह हैं रोहन ने हाथ से हलके से निधि की चिकनी जाँघ को सहलाते हुए बोला।
" ठीक हैं बोलकर निधि अपने कमरे में चली गयी।

इधर रोहन अपने मन में साली तुझे तो चोद के रहूंगा और चुदवा के भी कुतिया साली।

********

आरोही तेरा कोई आशिक़ नही हैं क्या कॉलेज में आयेशा ने आँख मार के आरोही से पूछा।
" दीदी क्या तुम भी मैं ऐसी वैसी नही हूँ ।
" अच्छा जी तो वहा खुजली नही होती क्या आयेशा मुस्कुरा के बोली।
" आप तो बहुत गंदी हो छी.. कितनी गंदी बातें करती हो।
" ये गंदी बातें नही हैं मेरी जान असली मज़ा तो इसी में हैं कभी ले के देख अपने राहुल भईया का और हँसने लगी।
" आ..दीदी छी... आप से बात नही करनी ।

**********

गरिमा के फोन में एक रिंग हुई उसने देखा तो एक मैसेज आया था उसने खोल के देखा तो राहुल का मैसेज था ।
# (दीदी आप सो गयी क्या )
गरिमा ने भी टाइप करके कुछ भेजा जो राहुल के पास आया उसने देखा तो लिखा था ।
# (नही अभी नही सोई छत पे टहल रही हूँ )

# ( अच्छा ठीक हैं मैं भी आता हूँ बोलकर निकल गया।)

हलकी हलकी हवाओं के बीच गरिमा छत पे इधर से उधर हो रही थी। तभी उसने राहुल को देखा ।

" दीदी सोना नही हैं क्या ऑफिस नही जाओगी ।राहुल ने आते ही एक सवाल किया ।
" गरिमा अभी भी कुछ दिन पहले की बात से शर्मिंदा थी और वो दूसरी तरफ मुँह किये हुए खड़ी रही।
तभी राहुल फिर बोला ।
" देखो दीदी मेरा ऐसा कोई इरादा नही था की मैं आपकी और पापा के प्यार के बीच आऊं पर क्या मेरा हक़ नही की मैं भी आपका वो प्यार ले सकूँ।

गरिमा ने नज़रे निचे किये हुए ही पलटी और बोली।

" भाई मुझे माफ़ कर दे मैं जवानी और हवस में भूल गयी थी की वो मेरे पापा हैं। पर जब होश आया तो बहुत देर हो चुकी थी।

राहुल गरिमा के करीब आया और उसके चेहरे को अपने हाथों से ऊपर किया तो उसको हलकी रौशनी में दिखाई दिया की उसकी आँखें में आँसू हैं। वो अचानक ही बैठ गया और बोला ।

" उसने गरिमा के पैर को चूम के बोला ।दीदी आप रो क्यों रही हो।
अचानक ही गरिमा को अपने पैर पे राहुल के होठों का एहसास हुआ तो वो सिहर उठी और बोली ।
" भाई ऐसा मत कर तु मेरा भाई हैं उसने राहुल को उठाया और उसके गले लग गयी।
दोनों ही छत पे रात में एक दूसरे के जिस्म से लिपटे हुए एक दूसरे से माफ़ी मांग रहे थे ।
" दीदी आप शर्मिंदा मत महसूस करो आप की कोई गलती नही हैं ।

दोनों के जवान जिस्म एक दूसरे के जिस्म में गर्मी पैदा कर रहे थे गरिमा की मोटी चूची राहुल के छाती में दबी हुई एक अलग ही एहसास को जन्म दे थी। दोनों के अंदर एक तूफान उठने का संकेत होने लगा था की वो दोनों अलग हुए और एक दूसरे को देखने लगे । राहुल ने अपने हाथो से अपनी दीदी के आँसू पोछे, तभी गरिमा के होठ हिले और बोली ।

" शुक्रिया भाई मुझे लगा तु मुझे गंदी लड़की समझेगा ।
" दीदी इसमे गंदी क्या हैं जो आप कर रही थी वो तो सब करना चाहते हैं राहुल मुस्कुरा के साथ बोला।

दोनों की नज़र एक बार फिर मिली।और इस बार गरिमा भी मुस्कुरा दी ।
" वैसे दीदी पापा ज़्यादा मज़ा देते हैं क्या ।राहुल ने गरिमा को छेड़ते हुआ बोला।
" गरिमा ने राहुल को देखा और बोली बहुत कमीना हैं तु और उसके कान पकड़ ली।
" आह्ह..दीदी दर्द होता हैं ।छोड़ो ना राहुल ने हाथ मरना चालू किया और अचानक ही उसका हाथ गरिमा की चूची से जा टकराया। जो राहुल को गरम गरम सा महसूस हुआ ।इस अचानक हुए एहसास से गरिमा सिहर गयी और दोनो की नज़रे मिली ।जैसे आँखों ही आँखों में बोल रहे हो ।क्या हमें भी करना चाहिए । तभी एक ठंडी हवा का झुका आया और अचानक ही दोनों के होंठ मिल गये। कुछ देर एक दूसरे के होठों को होठों में लेकर खड़े रहे और तभी राहुल के होंठ हिले और उसने गरिमा के होठों को चूम के चूसने लगा ।कभी निचे के तो कभी ऊपर के बारी बारी राहुल अपनी दीदी के होठों को चूसे जा रहा था । कुछ देर ऐसे ही चलता रहा और गरिमा ने भी साथ देना शुरू कर दिया । छत पे खड़े भाई और बहन एक दूसरे के होठों को होठों में भर के चूसे जा रहे थे । दोनों ही भूल चुके थे की वो कहा खड़े हैं। गरिमा ने ढेर सारा थूक राहुल के मुँह में भर दिया जिसे राहुल ने मलाई की तरह पीता गया। जीभ से जीभ की लड़ाई होने लगी थी ।दोनों के बदन में झुरझुरी होने लगी ।गरिमा का एक हाथ राहुल के सर पे था और वो उसके बालों को रगड़ रही थी दूसरा हाथ से वो उसकी पीठ को सहलाने में लगी थी ।इधर राहुल का एक हाथ गरिमा की गांड की गोलाई को मसलने में लगा हुआ था वो हलके हलके गरिमा की गांड के उभार को रगड़ रगड़ के मज़ा उठा रहा था । दूसरे हाथ से वो गरिमा की पीठ को मसले जा रहा था ।दोनों का जिस्म अब आग उगलने लगा था।

********

इधर रोहन अपने कमरे में गया तो देखा राहुल नही हैं उसने सोचा ये कहा जा सकता हैं इस समय उसने कुछ सोचा और चल दिया ।
आरोही और आयेशा में ऐसे ही नोक झोक होती रही और आयेशा ने मज़ाक मज़ाक में राहुल से चुदवाने का बोल दिया जिससे आरोही शर्मा गयी । दोनों ही बेखर थी की छत पे राहुल और गरिमा क्या गुल खिला रहे हैं दोनों ही क्या पुरा परिवार ही बेखर था।

निधि ने गरिमा को कमरे में ना पाकर अलमारी खोली और एक सेक्सी ड्रेस जो वो पहन के सोना चाहती थी पहन ली और रोहन के हाथ के छूने के उस एहसास को महसूस करने लगी ।

********
इधर सुरेश अब जल्दी सोने लगा था जब से गरिमा और उसकी चुदाई राहुल ने भंग की थी तब से वो किचन के नाम से ही डरने लगा था । बरखा को आज नींद नही आ रही थी तो वो सोची छत पे टहल लेती हूँ ।
Bro thoda maar pit aur dushmani part karo aur incest pe jyada focus karo
 
Tags
adultery adultery incest baap beti bhai behan bhai behan ka pyar incest
Top

Dear User!

We found that you are blocking the display of ads on our site.

Please add it to the exception list or disable AdBlock.

Our materials are provided for FREE and the only revenue is advertising.

Thank you for understanding!