• If you are trying to reset your account password then don't forget to check spam folder in your mailbox. Also Mark it as "not spam" or you won't be able to click on the link.

Incest जादुई लकड़ी (Completed)

Chutiyadr

Well-Known Member
16,889
41,092
259
Mast update bhai future me kiya hone bala hai samajh nahi aaraha hai... Update ke bad hii kuch samajh aaraha hai dekhte hai aage kya hota hai
dhanywad sanju .........
 

Chutiyadr

Well-Known Member
16,889
41,092
259
Dr. sahab sabki tarah mey bhi bolunga samaj nahi aaraha ki kya horaha hey aur kya hoga aagey, har update khatam hotey hotey kahani puri tarah palat jata hey, aur ek baat bhai koi bhi awrat kitna bhi boli ho aapni pati ki dusri biwi ki bachcho ko itna pyear nahi karta jitna yeha Raj ki maa chandu k liye dikharahi hey aur chandu jab ki uski pati ki rakhil or kamwali ki bata ho, kahi ismey bhi kuch locha to nahi, dekhtey hey ab kya hota hey agey
KEEP IT UP AND AS ALWAYS WAITING FOR
dhanywad said dost .......sab samjh aayega bas padte rho ...........
 
  • Like
Reactions: Studxyz

Chutiyadr

Well-Known Member
16,889
41,092
259

अध्याय 17

रात भर मैंने अपना दिमाग घुमाया की आखिर अब मैं करू तो क्या करू…

दिमाग जैसे फट ही गया हो ,फिर मुझे याद आया की मेरे पास तो हर ताले की चाबी है ,मेरा ताबीज क्यो ना फिर से इसे चाटा जाय,मैंने फिर से इसे चाट लिया …

काजल मेडम ने कहा था की इससे मेरी इमेजिनेशन की पॉवर बढ़ जाएगी ,मैं आंखे बंद किये सब कुछ सोचने लगा,कैसे मैं मेडम से मिला था क्या क्या हुआ था ...हर चीज बिल्कुल ऐसे जैसे मैं उसे अभी देख रहा हु मेरे आंखों के सामने चल रही थी ..

फिर वो आखिरी बात जो मेडम ने चन्दू से कहि थी .

मैंने तुरंत आंखे खोली और अपना लेपटॉप चालू करके इस मेडिसिन के बारे में सर्च करने लगा,मुझे कुछ भी नही मिला,आखिर मुझे याद आया की मेरा एक सीनियर था जो फार्मेसी से ग्रेजुएशन कर रहा था ,अभी सुबह के 4 बज चुके थे ,लेकिन जिज्ञासा इतनी थी की मैंने उसे काल कर दिया …

वो साला अपने होस्टल में बैठा हुआ गांजा फूक रहा था ,वो भी अपने समय का टॉपर था और मैं हमेशा से ही क्लास का टॉपर रहा था तो हमारी थोड़ी बातचीत थी…

मैंने उसे अपना इंट्रोडक्शन दिया उसने मुझे तुरंत ही पहचान लिया …

“ओह तू निशा का भाई है ना,..”

मादरचोद...लेकिन मैंने उसे कुछ नही कहा ,मैंने बस उसे उस ड्रग का नाम बताया जो की मेडम ने मुझे बताया था …

“अबे क्यो नशा फाड़ रहा है मैंने आजतक ऐसा कुछ नही सुना “

उसने एक ही बार में कहा

“लेकिन कुछ तो होगा जो इससे मिलता जुलता हॉगआ “

“तुझे क्या हो गया जो ये सब पूछ रहा है “

अब मैं उससे क्या कहु??

“वो मैंने एक ड्रग के बारे में सुना था जिससे आदमी बहुत ही ताकतवर और दिमागवाला हो जाता है…..”

“ओह तू NZT की बात कर रहा है ,अबे साले वो फिल्मो में दिखाते है की ऐसा होता है वैसा होता है होता कुछ घण्टा नही है ,बस चूतिया बनाते है साले,वो एन्टी डिप्रेशन की दवाई है आदमी को लगता है की वो कुछ बड़ा हो गया है लेकिन वो झांट का झांट ही रहता है…”

मैं NZT के बारे में जानता था लेकिन ये वो नही था ,

“अरे भाई कुछ तो बताओ कहि से तो पता करो “

वो थोड़े देर सोचा ..

“रुक पता करता हु अगर दुनिया में इसपर कोई भी रिसर्च हुई हो या इससे मिलता जुलता रिसर्च हुआ हो तो पता चल जाएगा ..”

वो कुछ देर बाद तक लाइन में ही बना रहा ,अपने रूम मेट्स से बकचोदी करता हुआ और अपने लेपटॉप में कुछ ढूंढता हुआ…

“अबे तूने इसके बारे में कहा से सुना “

“वो किसी ने बताया ..”

“तो सुन तुझे किसी ने अच्छे से चूतिया बना दिया है ,ना ऐसी कोई दवाई है ना ही जो नाम तू बता रहा है वैसा कुछ काम्बिनेशन भी है..

न्यूरोगिला ट्राय बेसाईल फास्फेट हा हा हा..”

वो जोरो से हँसा ..

“लौण्डे तुझे किसी ने बहुत जोरो से चूतिया बना दिया है ,न्यूरोगिला,बेसाईल बायोलॉजी से उठा लिया ,और ट्राय फास्फेट केमेस्ट्री से और एक बायो केमेस्ट्री जैसे लगने वाला नाम तुझे चिपका दिया ….”

वो जोरो से हंस रहा था पता नही साला गंजे के नशे में था की मेरा चुतियापा ही इतना बड़ा था ……

मैं इतना तो समझ गया था की मेरा चूतिया काटा जा रहा है लेकिन साला इसे चाटने के बाद कुछ तो होता है इससे तो मैं भी इनकार नही कर सकता था ……

बातो ही बातो में 5 बज चुके थे ,मैं रात भर से सोया नही था लेकिन फिर भी मैं फ्रेश होकर स्टेडियम की ओर निकल पड़ा …

मुझे यकीन था की मेडम को जब पता चला होगा की मैं चन्दू से बात कर रहा था तो उन्हें ये भी पता चल गया होगा की मैंने उनकी आवाज सुन ली है ,इसलिए छिपाने से कोई मतलब नही था…

नेहा के फोन में वॉइस रिकॉर्डर मौजूद था तो मैंने उसे उस काल की रिकार्डिंग मांग ली ,पूरी बात छोड़ कर उसने भी मुझे लास्ट की ही रिकॉर्डिंग दी क्योकि उसे भी अभी तक मुझपर पूरा भरोसा नही हुआ था …

सामने दो ही संभावना थी या तो मेडम आज मेरे सामने ही नही आएगी और अगर आई और नार्मल विहेब करने लगी तो जरूर उनके दिमाग में कोई बहाना होगा,मेडम भी कुछ वैसा ही सोच रही होगी…

वो भी सोच रही होगी की उनकी आवाज सुनने के बाद या तो मैं आऊंगा ही नही या तो आकर उनपर टूट पडूंगा,कुछ अजीब करूँगा लेकिन मुझे वो नही करना था जो वो सोच रही थी ,मुझे वो करना था जो मुझे करना था……

मैं वंहा पहुचा तो मेडम को हमेशा की तरह ही मझे देखकर मुस्कुराता हुआ पाया जैसे कुछ हुआ ही नही है ,मेरी एक संभावना में ये भी था ,तो मैंने अपनी एक्टिंग चालू कर दी और इशारे से उन्हें दूसरी ओर बुला लिया ……

“क्या हुआ राज तुम परेशान दिख रहे हो …??”

वही प्यारी आवाज वही प्यारी मुस्कान ,वही मासूम सा चहेरा ..

वाह साली या तो तू बहुत बड़ी एक्टर है या मैं ही कोई महा चोदू हु…

दोनो संभावना हो सकती थी ….

मैंने अपनी सूरत रोनी बना ली ,अब तो साला मैं भी एक्टिंग करूँगा …

“अरे क्या हुआ ??”

“मुझे आपसे ऐसी उम्मीद नही थी मेडम की आप मुझे धोखा दोगे”

उनके चहरे में आश्चर्य के भाव आ गए …

“क्या हुआ बताओ तो तुम ऐसा क्यो बोल रहे हो “

मैंने अपनी मोबाइल निकाल कर वो रिकार्डिंग उन्हें सुना दिया ..

“तुमने चन्दू से बात की कैसे ..”

उनके चहरे में आश्चर्य के ऐसी भाव आये की मुझे लगा जैसे वो सच में कुछ नही जानती ,वाह मेडम वाह …

“उससे आप को क्या बात वो नही की मैंने चन्दू से बात की, बात ये है की जिस औरत ने चन्दू को फोन रखने को कहा उसकी आवाज सुनो ...वो आप ही थी ..”

मेडम ने एक बार फिर से रिकार्डिंग प्ले की जैसे पहली बार में उसे मिस कर दिया हो …

“ओह तो ये भी यंहा है ..”

उन्होने कुछ सोचते हुए कहा …

“कौन ???”

मैं फिर से एक नई कहानी सुनने को तैयार हो गया था ..

“मेरी मारलो ..”

“क्या अभी ???”

मैं उनकी बात से जोरो से चौका ,वो जोरो से हंस पड़ी ..

“अरे पागल उसका नाम है मिस मेरी मारलो,पहले तो डॉ चूतिया की सेकेट्री हुआ करती थी लेकिन फिर कुछ झगड़ा होने के बाद वो डागा के साथ मिल गई ..”

मेरा दिमाग ने मुझे जोरो की गालियां दी ,अब अगर तू ऐसी चूतिया बातो में यकीन करने लगेगा तो तुझसे बड़ा चूतिया सच में दुनिया में कोई नही होगा,मेरे दिमाग ने ही मुझसे कहा …

“ओह...लेकिन उसकी आवाज ???”

“वही तो उसकी आवाज बिल्कुल ही मेरी तरह ही है “

काजल मेडम ने इतने आत्मविस्वास से कहा की मन किया उनके गालो में एक जोरदार झापड़ मार दु,मादरचोद क्या मैं चहरे से ही चोदू दिखता हु जो ये मुझे कोई भी अनाब शनाब कहानी सुना रही थी …

मेरे चहरे का भाव जैसे उन्होने पढ़ लिया था ,तुम्हे यकीन नही आता ना तो देखो …

उन्होंने अपना मोबाइल और एक वीडियो मेरे सामने खोल दिया …

वीडियो दो साल पहले एक वेबसाइट में उपलोड की गई थी ,एक 30-35 साल की भरी हुई यूरोप जैसे नैन नक्शो वाली महिला मेरे सामने थी ,वो अपने बड़े बड़े मंम्मो को सहला रही थी …

“आइये देखिए मेरे जवानी का जलवा ,कभी देखा है ऐसा ..”

वो ये सब कहते हुए अपने मंम्मो को मसल रही थी ,मेरी सच में फ़टी की फ़टी रह गई जब मैंने उसकी आवाज सुनी वो बिल्कुल ही काजल मेडम की तरह की ही आवाज थी ,एक आवाज की एक पिच होती है ,एक भारीपन या तेज या हल्का एक स्पेशल फ्रीक्वेंसी होती है ,इन्ही सभी चीजो को मिलकर लोग एक्टर्स की मिमिक्री किया करते है हमे लगता है की ये आवाज तो उस एक्टर की है लेकिन वो ऐसा कर पाते है इन्ही छोटी छोटी चीजो को समझकर …

क्योकि मुझे भी कभी मिमिक्री का शौक था (सच में है लेकिन आवाज ही नही निकाल पाता ) मैंने ये बारीकियां सीखी थी …

मुझे समझ आया की असल में उन दोनो की आवाज एक नही है बल्कि बोलने का स्टाइल और उसके साथ पिच ,और गहराई एक सी है इसलिए दोनो की आवाजे एक ही लगती है ,जैसे हमे सभी चाइनीज लोग और उनकी आवाज एक ही लगती है ,,,

वैसा ही कुछ ……

ये देखने के बाद मैं थोड़ा सोच में पड़ गया ,क्योकि वंहा उसके एक नही कई वीडियोस थे,मैंने उस वेबसाइट का नाम अपने दिमाग में ही नोट कर लिया ...तभी मेडम बोली ..

“इसकी इन्ही हरकतों के कारण डॉ से इसका झगड़ा होता रहता था ,इसे पता नही अपने जिस्म को दिखाने का क्या शौक था की ये ऐसे वेबसाइट्स में अपने जिस्म की नुमाइश करती रहती थी ,और इसके चाहने वाले भी बहुत है ,देखो ना कितने viwes है इसके ...इसी के कारण डॉ ने इसे वंहा से निकाल दिया ,और गुस्से में आकर इसने डागा के गैंग को जॉइन कर लिया और हमारे लिए एक मुसीबत बन गई …….”

साला अब मैं क्या करू ,पहले सोचा था की काजल मेडम ही गलत होगी लेकिन इनके पास तो फूल प्रूफ सबूत है इसे नकार भी नही सकता था ….

“तुम्हे अब भी मुझपर भरोसा नही है ..??”

उन्होंने मुझे घूरा ..

“आपने ही तो मुझे इतना काबिल बनाया है अब आप पर भरोसा नही करूँगा तो किसपर करूँगा ,ऐसे ये मेरी मारलो है बहुत सेक्सी .मिलेगी तो जरूर मरूँगा इसकी ..”

काजल मेडम ने मुझे झूठे गुस्से से देखा और मेरे गालो में एक चपत लगा दी ..

“कल रात मन नही भरा तेरा “

“अरे मेडम ये दवाई है की क्या है साला मैं तो पागल ही हो गया था…”अब ये सच में क्या है मुझे भी नही पता लेकिन कम से कम इसे दवाई बोलकर मेडम के शक के दायरे से तो बाहर रहूंगा ..

वो फिर से हंसी ,मैंने कहा था ना की ये तुम्हारे अंदर बहुत ही ज्यादा शक्ति ला देगा जिसे सम्हालना तुम्हारे लिए मुश्किल हो जाएगा ,खैर तुमने नीबू चाटा..”

उन्होने शरारत से कहा …

“जरूरत ही नही पड़ी ,असल में मेरा निकला लेकिन ...लेकिन मूलबन्ध लग जाने के कारण फिर से अंदर चला गया …”

वो थोड़ी देर तक मुझे नॉटी निगाहों से देखती रही साली ये मुझे कब देगी...पहली बार उनके लिए कुछ ऐसा ख्याल मेरे दिमाग में आया उनकी आंखों में ही वो बात थी की ऐसा लगा जैसे भी पकड़कर किस कर दु …..

“वो तुमने इसकी इतनी प्रेक्टिस जो की है ,इसलिए लग गया कोई बात नही ये इंटरलन ओर्गास्म है ,तुम्हारी शक्ति भी बच गई और साथ ही वो फील भी मिल गया ,अब प्रेक्टिस करे “

मैं फिर से उनके साथ हो लिया ….

अब काजल मेडम गलत थी की सही थी ,वो चन्दू के साथ काजल थी की मेरी मारलो ये पता लगाना अभी मेरे दिमाग से बाहर था,मुझे बस इतना पता था की मेडम के साथ मुझे वैसे ही रहना है जैसे मैं पहले रहता था लेकिन अब अपनी आंखे खोलकर ,किसी भी चीज पर इतनी जल्दी भरोसा नही कर सकता था …..

और ये बात उन्हें भी पता होगी की मैं उनके ऊपर नजर रखे हुए हु तो वो भी चीजो को थोड़े हिसाब से ही करेगी ,अगर वो गलत हुई तो वो सावधानी रखने के चक्कर में जरूर ऐसा कुछ करेगी जिससे वो पकड़ में आ जाएगी ,तो भइया जैसे लोहा लोहे को काटता है वैसे ही सावधानी सावधानी को कटेगा,........

खैर अब मेरा हाल ये था की मुझे पता नही था की …

1.काजल मेडम मेरे साथ है की नही …

2. नेहा सच में मेरा साथ देगी या फिर मेरे और उसके बीच हुए समझौते को चन्दू को बता देगी ..

3.वकील साहब को किसने मारा

4.ये डॉ चुटिया बाबा जी ही है या सिर्फ मुझे चूतिया बनाने के लिए बोला गया एक नाम

5.बाबा जी की ये लड़की कोई जादुई लकड़ी है या फिर एक केमिकल फार्मूला ,

6. ये आखिर काम कैसे करता है क्योकी हर बार इसका इफेक्ट ही दूसरा होता है

7.निशा सच में मुझसे प्यार करती है की वो भी इस गेम में कोई पात्र है जो मुझे फंसा रही है (ऐसे मुझे तो लगता है की वो मासूम है)

8,पिता जी का इन सबमे क्या रोल है

9.ये चन्दू मादरचोद आखिर छिपा कहा है

10. अगर काजल मेडम ने ही चन्दू को छिपाया है तो फिर असल में उन्हें चाहिए क्या,अगर उन्हें हमे मारना ही है तो मार ही क्यो नही देते …

11. अगर मेडम सच में चन्दू के साथ है तो फिर मुझे क्यो ट्रेन किया जा रहा है (इतनी मेहरबानी आखिर किस लिए जज साहब …)

12. क्या मुझे फिर से कान्ता और शबीना की लेनी चाहिए(क्योकि सच में खड़ा हो बहुत होने लगा था और मजा भी साला बहुत आ रहा था ….) और क्या उनकी ले कर फोटो चन्दू को भेजना चाहिए क्योकि नेहा और मेरा एक समझौता भी तो हुआ था ...

13. और आखिर में क्या ये सब सोचकर मैं खुद ही पागल हो जाऊंगा ,कही यही तो सालो का प्लान नही है की मुझे पागल करके मेरी जायजाद हड़प ले ... ..

सब सवाल दिमाग में घूमने लगे …..

और

“मैं माँ चुदाये सब “

मैं झल्ला गया था …

“छि इतनी गंदी गालिया देना कहा से सिख लिए “

इस बार मेरे पीछे रश्मि खड़ी थी ,वो भी मेरे साथ क्लास आया करती थी ,उसे देखकर मुझे मेडम की बात याद आयी की उसे प्रपोज कर दु ,और एक चीज और मेरे दिमाग में आई ….

इसकी तो मैंने ली ही नही …..ये मादरचोद मेरा लौड़ा,इतनी टेंशन में फिर के फुंकार मारने लगा ……...
 

brego4

Well-Known Member
2,850
11,063
158
wow dactar sahib ab kuch dimaag lagaya hai raj ne waise ye sab kuch Pint No 13 ke hisab se chal rha hai kyon ki padhne wale bhi to pagal se ho liye to fir raj jis ke saath beet rahi hai wo kyon na ho ?
 

Aakash.

ᴇᴍʙʀᴀᴄᴇ ᴛʜᴇ ꜰᴇᴀʀ
Staff member
Divine
Moderator
31,192
78,108
304
अध्याय 17

रात भर मैंने अपना दिमाग घुमाया की आखिर अब मैं करू तो क्या करू…

दिमाग जैसे फट ही गया हो ,फिर मुझे याद आया की मेरे पास तो हर ताले की चाबी है ,मेरा ताबीज क्यो ना फिर से इसे चाटा जाय,मैंने फिर से इसे चाट लिया …

काजल मेडम ने कहा था की इससे मेरी इमेजिनेशन की पॉवर बढ़ जाएगी ,मैं आंखे बंद किये सब कुछ सोचने लगा,कैसे मैं मेडम से मिला था क्या क्या हुआ था ...हर चीज बिल्कुल ऐसे जैसे मैं उसे अभी देख रहा हु मेरे आंखों के सामने चल रही थी ..

फिर वो आखिरी बात जो मेडम ने चन्दू से कहि थी .

मैंने तुरंत आंखे खोली और अपना लेपटॉप चालू करके इस मेडिसिन के बारे में सर्च करने लगा,मुझे कुछ भी नही मिला,आखिर मुझे याद आया की मेरा एक सीनियर था जो फार्मेसी से ग्रेजुएशन कर रहा था ,अभी सुबह के 4 बज चुके थे ,लेकिन जिज्ञासा इतनी थी की मैंने उसे काल कर दिया …

वो साला अपने होस्टल में बैठा हुआ गांजा फूक रहा था ,वो भी अपने समय का टॉपर था और मैं हमेशा से ही क्लास का टॉपर रहा था तो हमारी थोड़ी बातचीत थी…

मैंने उसे अपना इंट्रोडक्शन दिया उसने मुझे तुरंत ही पहचान लिया …

“ओह तू निशा का भाई है ना,..”

मादरचोद...लेकिन मैंने उसे कुछ नही कहा ,मैंने बस उसे उस ड्रग का नाम बताया जो की मेडम ने मुझे बताया था …

“अबे क्यो नशा फाड़ रहा है मैंने आजतक ऐसा कुछ नही सुना “

उसने एक ही बार में कहा

“लेकिन कुछ तो होगा जो इससे मिलता जुलता हॉगआ “

“तुझे क्या हो गया जो ये सब पूछ रहा है “

अब मैं उससे क्या कहु??

“वो मैंने एक ड्रग के बारे में सुना था जिससे आदमी बहुत ही ताकतवर और दिमागवाला हो जाता है…..”

“ओह तू NZT की बात कर रहा है ,अबे साले वो फिल्मो में दिखाते है की ऐसा होता है वैसा होता है होता कुछ घण्टा नही है ,बस चूतिया बनाते है साले,वो एन्टी डिप्रेशन की दवाई है आदमी को लगता है की वो कुछ बड़ा हो गया है लेकिन वो झांट का झांट ही रहता है…”

मैं NZT के बारे में जानता था लेकिन ये वो नही था ,

“अरे भाई कुछ तो बताओ कहि से तो पता करो “

वो थोड़े देर सोचा ..

“रुक पता करता हु अगर दुनिया में इसपर कोई भी रिसर्च हुई हो या इससे मिलता जुलता रिसर्च हुआ हो तो पता चल जाएगा ..”

वो कुछ देर बाद तक लाइन में ही बना रहा ,अपने रूम मेट्स से बकचोदी करता हुआ और अपने लेपटॉप में कुछ ढूंढता हुआ…

“अबे तूने इसके बारे में कहा से सुना “

“वो किसी ने बताया ..”

“तो सुन तुझे किसी ने अच्छे से चूतिया बना दिया है ,ना ऐसी कोई दवाई है ना ही जो नाम तू बता रहा है वैसा कुछ काम्बिनेशन भी है..

न्यूरोगिला ट्राय बेसाईल फास्फेट हा हा हा..”

वो जोरो से हँसा ..

“लौण्डे तुझे किसी ने बहुत जोरो से चूतिया बना दिया है ,न्यूरोगिला,बेसाईल बायोलॉजी से उठा लिया ,और ट्राय फास्फेट केमेस्ट्री से और एक बायो केमेस्ट्री जैसे लगने वाला नाम तुझे चिपका दिया ….”

वो जोरो से हंस रहा था पता नही साला गंजे के नशे में था की मेरा चुतियापा ही इतना बड़ा था ……

मैं इतना तो समझ गया था की मेरा चूतिया काटा जा रहा है लेकिन साला इसे चाटने के बाद कुछ तो होता है इससे तो मैं भी इनकार नही कर सकता था ……

बातो ही बातो में 5 बज चुके थे ,मैं रात भर से सोया नही था लेकिन फिर भी मैं फ्रेश होकर स्टेडियम की ओर निकल पड़ा …

मुझे यकीन था की मेडम को जब पता चला होगा की मैं चन्दू से बात कर रहा था तो उन्हें ये भी पता चल गया होगा की मैंने उनकी आवाज सुन ली है ,इसलिए छिपाने से कोई मतलब नही था…

नेहा के फोन में वॉइस रिकॉर्डर मौजूद था तो मैंने उसे उस काल की रिकार्डिंग मांग ली ,पूरी बात छोड़ कर उसने भी मुझे लास्ट की ही रिकॉर्डिंग दी क्योकि उसे भी अभी तक मुझपर पूरा भरोसा नही हुआ था …

सामने दो ही संभावना थी या तो मेडम आज मेरे सामने ही नही आएगी और अगर आई और नार्मल विहेब करने लगी तो जरूर उनके दिमाग में कोई बहाना होगा,मेडम भी कुछ वैसा ही सोच रही होगी…

वो भी सोच रही होगी की उनकी आवाज सुनने के बाद या तो मैं आऊंगा ही नही या तो आकर उनपर टूट पडूंगा,कुछ अजीब करूँगा लेकिन मुझे वो नही करना था जो वो सोच रही थी ,मुझे वो करना था जो मुझे करना था……

मैं वंहा पहुचा तो मेडम को हमेशा की तरह ही मझे देखकर मुस्कुराता हुआ पाया जैसे कुछ हुआ ही नही है ,मेरी एक संभावना में ये भी था ,तो मैंने अपनी एक्टिंग चालू कर दी और इशारे से उन्हें दूसरी ओर बुला लिया ……

“क्या हुआ राज तुम परेशान दिख रहे हो …??”

वही प्यारी आवाज वही प्यारी मुस्कान ,वही मासूम सा चहेरा ..

वाह साली या तो तू बहुत बड़ी एक्टर है या मैं ही कोई महा चोदू हु…

दोनो संभावना हो सकती थी ….

मैंने अपनी सूरत रोनी बना ली ,अब तो साला मैं भी एक्टिंग करूँगा …

“अरे क्या हुआ ??”

“मुझे आपसे ऐसी उम्मीद नही थी मेडम की आप मुझे धोखा दोगे”

उनके चहरे में आश्चर्य के भाव आ गए …

“क्या हुआ बताओ तो तुम ऐसा क्यो बोल रहे हो “

मैंने अपनी मोबाइल निकाल कर वो रिकार्डिंग उन्हें सुना दिया ..

“तुमने चन्दू से बात की कैसे ..”

उनके चहरे में आश्चर्य के ऐसी भाव आये की मुझे लगा जैसे वो सच में कुछ नही जानती ,वाह मेडम वाह …

“उससे आप को क्या बात वो नही की मैंने चन्दू से बात की, बात ये है की जिस औरत ने चन्दू को फोन रखने को कहा उसकी आवाज सुनो ...वो आप ही थी ..”

मेडम ने एक बार फिर से रिकार्डिंग प्ले की जैसे पहली बार में उसे मिस कर दिया हो …

“ओह तो ये भी यंहा है ..”

उन्होने कुछ सोचते हुए कहा …

“कौन ???”

मैं फिर से एक नई कहानी सुनने को तैयार हो गया था ..

“मेरी मारलो ..”

“क्या अभी ???”

मैं उनकी बात से जोरो से चौका ,वो जोरो से हंस पड़ी ..

“अरे पागल उसका नाम है मिस मेरी मारलो,पहले तो डॉ चूतिया की सेकेट्री हुआ करती थी लेकिन फिर कुछ झगड़ा होने के बाद वो डागा के साथ मिल गई ..”

मेरा दिमाग ने मुझे जोरो की गालियां दी ,अब अगर तू ऐसी चूतिया बातो में यकीन करने लगेगा तो तुझसे बड़ा चूतिया सच में दुनिया में कोई नही होगा,मेरे दिमाग ने ही मुझसे कहा …

“ओह...लेकिन उसकी आवाज ???”

“वही तो उसकी आवाज बिल्कुल ही मेरी तरह ही है “

काजल मेडम ने इतने आत्मविस्वास से कहा की मन किया उनके गालो में एक जोरदार झापड़ मार दु,मादरचोद क्या मैं चहरे से ही चोदू दिखता हु जो ये मुझे कोई भी अनाब शनाब कहानी सुना रही थी …

मेरे चहरे का भाव जैसे उन्होने पढ़ लिया था ,तुम्हे यकीन नही आता ना तो देखो …

उन्होंने अपना मोबाइल और एक वीडियो मेरे सामने खोल दिया …

वीडियो दो साल पहले एक वेबसाइट में उपलोड की गई थी ,एक 30-35 साल की भरी हुई यूरोप जैसे नैन नक्शो वाली महिला मेरे सामने थी ,वो अपने बड़े बड़े मंम्मो को सहला रही थी …

“आइये देखिए मेरे जवानी का जलवा ,कभी देखा है ऐसा ..”

वो ये सब कहते हुए अपने मंम्मो को मसल रही थी ,मेरी सच में फ़टी की फ़टी रह गई जब मैंने उसकी आवाज सुनी वो बिल्कुल ही काजल मेडम की तरह की ही आवाज थी ,एक आवाज की एक पिच होती है ,एक भारीपन या तेज या हल्का एक स्पेशल फ्रीक्वेंसी होती है ,इन्ही सभी चीजो को मिलकर लोग एक्टर्स की मिमिक्री किया करते है हमे लगता है की ये आवाज तो उस एक्टर की है लेकिन वो ऐसा कर पाते है इन्ही छोटी छोटी चीजो को समझकर …

क्योकि मुझे भी कभी मिमिक्री का शौक था (सच में है लेकिन आवाज ही नही निकाल पाता ) मैंने ये बारीकियां सीखी थी …

मुझे समझ आया की असल में उन दोनो की आवाज एक नही है बल्कि बोलने का स्टाइल और उसके साथ पिच ,और गहराई एक सी है इसलिए दोनो की आवाजे एक ही लगती है ,जैसे हमे सभी चाइनीज लोग और उनकी आवाज एक ही लगती है ,,,

वैसा ही कुछ ……

ये देखने के बाद मैं थोड़ा सोच में पड़ गया ,क्योकि वंहा उसके एक नही कई वीडियोस थे,मैंने उस वेबसाइट का नाम अपने दिमाग में ही नोट कर लिया ...तभी मेडम बोली ..

“इसकी इन्ही हरकतों के कारण डॉ से इसका झगड़ा होता रहता था ,इसे पता नही अपने जिस्म को दिखाने का क्या शौक था की ये ऐसे वेबसाइट्स में अपने जिस्म की नुमाइश करती रहती थी ,और इसके चाहने वाले भी बहुत है ,देखो ना कितने viwes है इसके ...इसी के कारण डॉ ने इसे वंहा से निकाल दिया ,और गुस्से में आकर इसने डागा के गैंग को जॉइन कर लिया और हमारे लिए एक मुसीबत बन गई …….”

साला अब मैं क्या करू ,पहले सोचा था की काजल मेडम ही गलत होगी लेकिन इनके पास तो फूल प्रूफ सबूत है इसे नकार भी नही सकता था ….

“तुम्हे अब भी मुझपर भरोसा नही है ..??”

उन्होंने मुझे घूरा ..

“आपने ही तो मुझे इतना काबिल बनाया है अब आप पर भरोसा नही करूँगा तो किसपर करूँगा ,ऐसे ये मेरी मारलो है बहुत सेक्सी .मिलेगी तो जरूर मरूँगा इसकी ..”

काजल मेडम ने मुझे झूठे गुस्से से देखा और मेरे गालो में एक चपत लगा दी ..

“कल रात मन नही भरा तेरा “

“अरे मेडम ये दवाई है की क्या है साला मैं तो पागल ही हो गया था…”अब ये सच में क्या है मुझे भी नही पता लेकिन कम से कम इसे दवाई बोलकर मेडम के शक के दायरे से तो बाहर रहूंगा ..

वो फिर से हंसी ,मैंने कहा था ना की ये तुम्हारे अंदर बहुत ही ज्यादा शक्ति ला देगा जिसे सम्हालना तुम्हारे लिए मुश्किल हो जाएगा ,खैर तुमने नीबू चाटा..”

उन्होने शरारत से कहा …

“जरूरत ही नही पड़ी ,असल में मेरा निकला लेकिन ...लेकिन मूलबन्ध लग जाने के कारण फिर से अंदर चला गया …”

वो थोड़ी देर तक मुझे नॉटी निगाहों से देखती रही साली ये मुझे कब देगी...पहली बार उनके लिए कुछ ऐसा ख्याल मेरे दिमाग में आया उनकी आंखों में ही वो बात थी की ऐसा लगा जैसे भी पकड़कर किस कर दु …..

“वो तुमने इसकी इतनी प्रेक्टिस जो की है ,इसलिए लग गया कोई बात नही ये इंटरलन ओर्गास्म है ,तुम्हारी शक्ति भी बच गई और साथ ही वो फील भी मिल गया ,अब प्रेक्टिस करे “

मैं फिर से उनके साथ हो लिया ….

अब काजल मेडम गलत थी की सही थी ,वो चन्दू के साथ काजल थी की मेरी मारलो ये पता लगाना अभी मेरे दिमाग से बाहर था,मुझे बस इतना पता था की मेडम के साथ मुझे वैसे ही रहना है जैसे मैं पहले रहता था लेकिन अब अपनी आंखे खोलकर ,किसी भी चीज पर इतनी जल्दी भरोसा नही कर सकता था …..

और ये बात उन्हें भी पता होगी की मैं उनके ऊपर नजर रखे हुए हु तो वो भी चीजो को थोड़े हिसाब से ही करेगी ,अगर वो गलत हुई तो वो सावधानी रखने के चक्कर में जरूर ऐसा कुछ करेगी जिससे वो पकड़ में आ जाएगी ,तो भइया जैसे लोहा लोहे को काटता है वैसे ही सावधानी सावधानी को कटेगा,........

खैर अब मेरा हाल ये था की मुझे पता नही था की …

1.काजल मेडम मेरे साथ है की नही …

2. नेहा सच में मेरा साथ देगी या फिर मेरे और उसके बीच हुए समझौते को चन्दू को बता देगी ..

3.वकील साहब को किसने मारा

4.ये डॉ चुटिया बाबा जी ही है या सिर्फ मुझे चूतिया बनाने के लिए बोला गया एक नाम

5.बाबा जी की ये लड़की कोई जादुई लकड़ी है या फिर एक केमिकल फार्मूला ,

6. ये आखिर काम कैसे करता है क्योकी हर बार इसका इफेक्ट ही दूसरा होता है

7.निशा सच में मुझसे प्यार करती है की वो भी इस गेम में कोई पात्र है जो मुझे फंसा रही है (ऐसे मुझे तो लगता है की वो मासूम है)

8,पिता जी का इन सबमे क्या रोल है

9.ये चन्दू मादरचोद आखिर छिपा कहा है

10. अगर काजल मेडम ने ही चन्दू को छिपाया है तो फिर असल में उन्हें चाहिए क्या,अगर उन्हें हमे मारना ही है तो मार ही क्यो नही देते …

11. अगर मेडम सच में चन्दू के साथ है तो फिर मुझे क्यो ट्रेन किया जा रहा है (इतनी मेहरबानी आखिर किस लिए जज साहब …)

12. क्या मुझे फिर से कान्ता और शबीना की लेनी चाहिए(क्योकि सच में खड़ा हो बहुत होने लगा था और मजा भी साला बहुत आ रहा था ….) और क्या उनकी ले कर फोटो चन्दू को भेजना चाहिए क्योकि नेहा और मेरा एक समझौता भी तो हुआ था ...

13. और आखिर में क्या ये सब सोचकर मैं खुद ही पागल हो जाऊंगा ,कही यही तो सालो का प्लान नही है की मुझे पागल करके मेरी जायजाद हड़प ले ... ..

सब सवाल दिमाग में घूमने लगे …..

और

“मैं माँ चुदाये सब “

मैं झल्ला गया था …

“छि इतनी गंदी गालिया देना कहा से सिख लिए “

इस बार मेरे पीछे रश्मि खड़ी थी ,वो भी मेरे साथ क्लास आया करती थी ,उसे देखकर मुझे मेडम की बात याद आयी की उसे प्रपोज कर दु ,और एक चीज और मेरे दिमाग में आई ….

इसकी तो मैंने ली ही नही …..ये मादरचोद मेरा लौड़ा,इतनी टेंशन में फिर के फुंकार मारने लगा ……...
Nice update doctor....:heart::heart::heart:
 
  • Like
Reactions: Rahul and Chutiyadr

Studxyz

Well-Known Member
2,925
16,231
158
डॉ साब बहुत अपडेट के बाद इस अपडेट में कुछ ठहराव आया है पर एक बात ज़रूर है की सब के सब काजल और निशा व् माँ समेत शक के दायरे में है राज के खिलाफ कोई तगड़ी साजिश है और तो और साला डॉ चूतिया उर्फ़ बाबा जी भी शक से अछूते नहीं है :toohappy:

ये सब तुम्हारी जलेबियों का ही तो कमाल है
 
Top